0

हिन्दी दिवस पर परिचर्चा 2 : वेब सीरीज भ्रष्ट कर रही हैं बच्चों की भाषा

रविवार,सितम्बर 13, 2020
0
1
इस प्रश्न को अनदेखा नहीं किया जा सकता कि व्यवस्थापक हिंदी विरोधी हो रहे हैं।
1
2
सन् 1966 में पहला विश्व साक्षरता दिवस मनाया गया था और वर्ष 2009-2010 को संयुक्त राष्ट्र साक्षरता दशक घोषित किया गया। तभी से लेकर आज तक पूरे विश्व में 8 सितंबर को विश्व साक्षरता दिवस के रूप में मनाया जाता है।
2
3
वे प्राइमरी टीचर हैं हम उनको क्यों विश करें, यही होते हैं हमारे शब्द। इस सोच को बदलने की जरूरत है। शिक्षक दिवस ही शिक्षक का असली सम्मान दिवस नहीं है। उसका असली सम्मान दिवस तब होता है जब उसका पढ़ाया हुआ कोई विद्यार्थी सार्वजनिक रूप से उसको नतमस्तक ...
3
4
शिक्षकों को जिम्मेदार ठहराने के नए-नए उपाय सोचे जाते हैं, लेकिन उनके कल्याण का कोई उपाय शिक्षा नीति का विचार विषय ही नहीं बन पाता।
4
4
5
इन अनिश्चित और तनावपूर्ण समय में लोग पराजित कर देने वाली भावनाओं, चिंता और भय से निपटने के लिए साधनों की तलाश कर रहे हैं।
5
6
आईआईएम इंदौर के निदेशक डॉ हिमांशु राय ने "भारतीय ज्ञान परंपरा और एनईपी 2020" के ऊपर विस्तार में बताया।
6
7
फेसबुक लाइव आयोजन किया और कलाकारों की मदद की एक छोटी सी कोशि‍श
7
8
जैसा देश वैसा वेश! सांप के विष का मामला भी कुछ ऐसा ही होता है।
8
8
9
शौमिक ने ट्विटर पर बताया कि वो किताबों के साथ रहता है। यानी लाइब्रेरी में रहता है।
9
10
वीरांगना महारानी अवंतीबाई लोधी का जन्म पिछड़े वर्ग के लोधी राजपूत समुदाय में 16 अगस्त 1831 को ग्राम मनकेहणी, जिला सिवनी के जमींदार राव जुझार सिंह के यहां हुआ था।
10
11
बाएं हाथ से काम करना एक ओर जहां इन्हें कई बातों में विशिष्ट बनाता है, तो वहीं दूसरी ओर लेफ्टी होने से कई बार परेशानियों से भी रू-ब-रू होना पड़ता है।
11
12
दिलों में गुलामी के खिलाफ आग भड़काने वाले सिर्फ दो शब्द थे- 'वंदे मातरम्'। आइए बताते हैं इस क्रांतिकारी, राष्ट्रभक्ति के अजर-अमर गीत के जन्म की कहानी -
12
13
आधुनिक भारत के शीर्षस्थ साहित्यकार मुंशी प्रेमचंद की रचना दृष्टि साहित्य के विभिन्न रूपों में अभिव्यक्त हुई है। उपन्यास, कहानी, नाटक, समीक्षा, लेख संस्मरण आदि अनेक विधाओं में उन्होंने साहित्य सृजन किया।
13
14
इससे ग्रस्त लोगों के लिए कई तरह के शारीरिक कार्यों को अंजाम देना मुश्किल होता है।
14
15
प्रतिवर्ष 11 जुलाई को पूरे विश्व में जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इस दिन विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की शुरुआत 1989 में, संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की संचालक परिषद द्वारा हुई थी।
15
16
देश के ईंधन क्षेत्र में जैव ईंधन को शामिल करने से जुड़े कारकों और बाधाओं को समझने में मददगार हो सकती हैं।
16
17
ऊंचाई वाले क्षेत्रों में उगाए जाने पर उसके गुणों में परिवर्तन देखने को मिल सकता है।
17
18
आज के संदर्भ में हमारी पर्सनॉलि‍टी को लेकर ब्रूस ली की यह बात सबसे ज्‍यादा प्रासंगिक और जरुरी महसूस होती है।
18
19
पूरे शरीर में एक माइंड ही या आपका नजरि‍या ही वो ह‍िस्‍सा है जो आपकी एक्‍टि‍व‍िटी को कंट्रोल करता है।
19