फिर टली जॉनसन की भारत यात्रा, जानिए क्या कारण रहा

Last Updated: सोमवार, 19 अप्रैल 2021 (16:43 IST)
नई दिल्ली/ लंदन। कोरोनावायरस महामारी के मद्देनजर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री अगले सप्ताह भारत यात्रा पर नहीं आएंगे। विदेश मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि यह फैसला दोनों पक्षों ने आपसी सहमति से किया है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति को देखते हुए आपसी सहमति से यह निर्णय किया गया है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री अगले सप्ताह भारत यात्रा पर नहीं आएंगे।
ALSO READ:
ब्राजील ने जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन को दी मंजूरी

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि दोनों पक्ष आने वाले दिनों में डिजिटल बैठक आयोजित करेंगे जिसमें भारत-ब्रिटेन संबंधों के लिए योजनाएं पेश की जाएंगी। लंदन में डाउनिंग स्ट्रीट ने भी सोमवार को जानकारी दी कि जॉनसन का दौरा कर दिया गया है। हालांकि जॉनसन भविष्य की ब्रिटेन-भारत साझेदारी के लिए अपनी योजनाओं की शुरुआत के लिहाज से इस महीने के आखिर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। उनकी आमने-सामने मुलाकात इस साल के आखिर में होने की संभावना है।


डाउनिंग स्ट्रीट ने ब्रिटिश और भारतीय सरकारों की ओर से एक संयुक्त वक्तव्य में कहा कि कोरोनावायरस के मौजूदा हालात की वजह से प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अगले सप्ताह भारत यात्रा नहीं कर सकेंगे। बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जॉनसन ब्रिटेन और भारत के बीच भविष्य की साझेदारी के लिहाज से अपनी महत्वाकांक्षी योजनाओं पर सहमति बनाने और उन्हें शुरू करने के लिए इस महीने के आखिर में बातचीत करेंगे।

भारत में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच जॉनसन पर अपनी यात्रा को रद्द करने का दबाव था। इस सप्ताहांत में ब्रिटेन की विपक्षी लेबर पार्टी ने उनसे आग्रह किया था कि वे यात्रा स्थगित करें और जूम से डिजिटल तरीके से चर्चा करें। इससे पहले इस यात्रा को छोटा करके 1 दिन करने की घोषणा की गई थी।


दोनों पक्षों को व्यापार, निवेश और जलवायु परिवर्तन संबंधी कार्रवाई के क्षेत्र में भारत-ब्रिटेन के संबंधों में नई ऊर्जा का संचार करने के लिहाज से रोडमैप 2030 पर सहमति बनानी है। अब इस बारे में इस महीने के आखिर में डिजिटल तरीके से प्रक्रिया को संपन्न किया जा सकता है। इससे पहले जनवरी में गणतंत्र दिवस के अवसर पर भी जॉनसन की यात्रा रद्द कर दी गई थी। (भाषा)



और भी पढ़ें :