इटली में कोरोना का कहर जारी, रिकॉर्ड 743 लोगों की मौत

पुनः संशोधित मंगलवार, 24 मार्च 2020 (23:36 IST)
रोम। इटली में से मंगलवार को 743 लोगों की मौत हुई। इसके साथ ही दो दिनों से मृतकों के आंकड़ों में कमी से महामारी पर काबू पाने की उम्मीद को भी झटका लगा है।
इटली में कोरोना वायरस की महामारी शुरू होने के बाद से मंगलवार को दूसरा ऐसा दिन है जब सबसे अधिक मौतें हुई है लेकिन नागरिक सुरक्षा एजेंसी ने कहा है कि सोमवार को आए नए मामलों के आधार पर ऐसा लग रहा है कि संक्रमण दर घट रही है।

स्पेन में अस्पतालों में संक्रमित लाशों के बीच रहते पाए गए लोग :
कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच स्पेन में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। मैड्रिड में अस्पतालों को संक्रमण मुक्त करने लिए गए सैनिकों ने लोगों को गंदगी और उन संक्रमित शवों के बीच रहते पाया जिनके बारे में संदेह है कि उनकी मौत कोरोनो वायरस से हुई है। इस संबंध में न्यायिक जांच शुरू कर दी गई है।
रक्षा मंत्री मार्गरिटा रोबल्स ने बताया कि बुजुर्ग लोगों को ‘पूरी तरह से’ खुद के हवाले छोड़ दिया गया या कुछ को अपने बिस्तरों पर मृत छोड़ दिया गया। उन्होंने कहा कि कई नर्सिंग होम मिले हैं और कई शव मिले हैं। हालांकि, उन्होंने इस बारे में जानकारी नहीं दी कि ये अस्पताल कहां हैं और कितने शव मिले हैं।

स्पेन में मंगलवार को 6,584 नए संक्रमण के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं और कुल संक्रमित लोगों की संख्या 39,673 पहुंच गई है। वहीं, मृतकों की संख्या 2,696 पहुंच गई। स्पेन की राजधानी में ही अब तक 1,535 लोगों की मौत हो चुकी है। स्पेन के स्वास्थ्य आपात केंद्र के प्रमुख फर्नान्डो सिमोन ने कहा, यह एक कठिन सप्ताह है।
अफ्रीकी जैज स्टार मनु दिबांगो की कोरोना वायरस के संक्रमण से मौत : वयोवृद्ध अफ्रीकी जैज कलाकार मनु दिबांगों की मंगलवार को कोरोना वायरस से संक्रमण की वजह से मौत हो गई। वह पहले विश्व प्रसिद्ध सितारे हैं जिनकी मौत कोरोना वायरस से हुई है।

उनके संगीत प्रकाशक थियेरी दुरुपियरे ने बताया कि अफ्रीकी देश कैमरून निवासी 86 वर्षीय दिबांगों ने मंगलवार को पेरिस इलाके में स्थित एक अस्पताल में आखिरी सांस ली। वर्ष 1972 में आई ‘सोल मकोस्सा’’ उनके बेहतरीन गीतों में से एक है।
दिबांगो के आधिकारिक फेसबुक पेज पर जारी संदेश के जरिये उनकी कोरोना वायरस से मौत होने की पुष्टि की गई। संदेश में कहा गया,
उनका अंतिम संस्कार बहुत ही निजी तरीके से होगा और जब संभव होगा तब उनकी याद में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की जाएगी।

फ्रांस की प्रयोगशाला को मिली अमेरिका की मंजूरी : फ्रांस की जांच कंपनी बायोमेरियेक्स ने बताया कि कंपनी को अमेरिकी नियामकों से कोरोना वायरस की जांच की मंजूरी मिल गई है। इससे 45 मिनट में जांच रिपोर्ट आ सकती है।
कंपनी ने कहा कि ‘बायोफायर कोविड-19 टेस्ट’ को अमेरिकी रक्षा विभाग की ओर से मिली पूंजी से विकसित किया गया है। बायोमेरियेक्स को अमेरिकी बाजार और कई अन्य जगहों में कारोबारी मंजूरी मिलने तक अमेरिकी रक्षा विभाग इस टेस्ट का वितरण करेगा।
(भाषा)


और भी पढ़ें :