Parasite: ऑस्कर अवॉर्ड जीतकर इतिहास रचने वाली दक्षिण कोरियाई फिल्म की ये है कहानी...

Last Updated: सोमवार, 10 फ़रवरी 2020 (19:03 IST)
दक्षिण कोरियाई फिल्म ‘पैरासाइट’ पहली एशियाई फिल्म है जिसे ऑस्कर अवॉर्ड से नवाजा गया है। फिल्‍म को ऑस्‍कर 2020 में ‘बेस्‍ट फिल्‍म’ साहित 4 अवॉर्ड्स मिले हैं। Bong Joon-ho के निर्देशन में बनी ‘पैरासाइट’ में समाज व्यवस्था पर तंज कसा गया है। फिल्म में अमीरी और गरीबी के बीच की खाई को बड़ी ही खूबसूरती से दिखाया गया है।

‘पैरासाइट’ की कहानी दो दक्षिण कोरियाई परिवारों की है। एक है किम परिवार, जो बेहद गरीब है और एक छोटे से सेमी बेसमेंट अपार्टमेंट में रहता है। दूसरा है पार्क परिवार, जो काफी ज्यादा अमीर हैं और एक आलीशान घर में रहते हैं। इन दोनों परिवारों में 4-4 सदस्य हैं, माता-पिता और दो भाई-बहन हैं। दोनों परिवार रोजमर्रा के संघर्ष से मुकाबला करते हैं, लेकिन दोनों की जरूरतें बिल्कुल अलग हैं। आइए जानते हैं फिल्म की पूरी कहानी-

किम परिवार पिता Ki-taek, मां Chung-sook, बेटी Ki-jeong और बेटा Ki-woo हैं। परिवार के सभी चार सदस्य टेंपररी जॉब्‍स करते हैं, लेकिन आमदनी काफी कम है। एक दिन Ki-woo का दोस्त Min-hyuk उनके घर आता है और उसे अमीर पार्क फैमिली की बेटी को इंग्लिश पढ़ाने के लिए कहता है। लेकिन Ki-woo के पास यूनिवर्सिटी डिग्री नहीं है, तो बहन Ki-jeong अपनी स्किल्स का इस्तेमाल करते हुए उसके लिए फोटोशॉप से ऑरिजिनल से भी अच्छी डिग्री बना देती है। Ki-woo की ट्यूटर की नौकरी लग जाती है।

कहानी में दिलचस्‍प मोड़ आता है और किम परिवार के बाकी के तीनों सदस्‍य भी पार्क फैमिली के यहां नौकरी करने लगते हैं। Ki-woo की बहन Ki-jeong पार्क फैमिली के बेटे Da-song की आर्ट थेरेपिस्‍ट बन जाती है। Ki-jeong साजिश कर मिस्‍टर पार्क के ड्राइवर को निकलवा देती है। फिर उसके पिता Ki-taek घर में ड्राइवर बनकर आ जाते हैं। मां Chung-sook भी हाउसकीपर के तौर पर पार्क परिवार में काम करने लगती है।


पार्क परिवार बेटे के बर्थडे पर कैंपिंग करने चली जाती है। किम परिवार अब उनके आलीशान घर में ऐश कर रहे होते हैं। तभी उस घर की पुरानी हाउसकीपर Moon-gwang सामने आ जाती है। वह खुलासा करती है कि वह और उसका पति 4 साल से उस घर के नीचे बने एक बंकर में छिपकर रहे हैं, क्‍योंकि कर्जदार उन्‍हें परेशान कर रहे थे।

Photo : Twitter
इस बीच Moon को पता चलता है कि ये चारों लोग एक ही परिवार के सदस्य हैं। Moon धमकी देती है कि वह पार्क फैमिली को सारी सच्‍चाई बता देगी। बाद में Moon शर्त पर रखती है कि यदि किम परिवार उसके रहस्‍य का खुलासा नहीं करेगी तो वह चुप रहेगी। लेकिन दोनों परिवारों के बीच झगड़ा होने लगता है। किम परिवार Moon-gwang और उसके पति को घायल कर देते हैं और उन्हें बांध कर बंकर में बंद कर आते हैं।

इस बीच मौसम खराब होने के कारण पार्क परिवार ट्रिप कैंसल कर लौट आता है। बाढ़ के कारण पूरे घर में पानी भर जाता है और मिस्टर पार्क घर की हालत के लिए सबको फटकार लगाते हैं। सब कुछ ठीक होने के बाद मिस्‍टर पार्क अपने बेटे के बर्थडे पर पार्टी की घोषणा करते हैं। किम परिवार के चारों सदस्य भी पार्टी में मौजूद होते हैं। इस दौरान Ki-woo घर के नीचे बने बंकर में जाता है, तो उसे पता चलता है कि Moon-gwang की मौत हो चुकी है। Moon का पति Geun-sae, Ki-woo पर हमला करता है और वहां से भाग निकलता है।

Geun-sae अपनी पत्‍नी की मौत का बदला लेने लिए रसाई में रखे चाकू से सब के सामने Ki-jeong के सीने में खंजर घोंप देता है। फिर वहां अफरा-तफरी मच जाती है और Ki-taek मिस्‍टर पार्क की शिकायतों से परेशान होकर उनका खून कर देता है।


इस घटना के कुछ हफ्तों बाद दिखाया जाता है कि Ki-woo, जो Moon के पति के हमले की वजह से कोमा में चला गया था, अब ठीक है। Ki-woo और उसकी मां Chung-sook पर फ्रॉड का आरोप लगा है। उसकी बहन Ki-jeong की मौत हो चुकी है। पिता Ki-taek पर मिस्‍टर पार्क के खून का आरोप लगा है और वह फरार है।

मिस्‍टर पार्क के घर को अब एक जर्मन परिवार ने खरीद लिया है। Ki-woo को उसके फरार पिता का मैसेज मिलता है कि वह घर के नीचे बने बंकर में छिपकर रह रहा है। Ki-woo अपने पिता को चिट्ठी लिखता है कि वह एक दिन खूब पैसे कमाएगा और इस आलीशान घर को खरीदेगा और एक दिन उनका परिवार साथ मिलकर रहेगा।


और भी पढ़ें :