वाहन बाजार में आई बहार, मार्च महीने में खूब बिकीं कारें...

Last Updated: शुक्रवार, 2 अप्रैल 2021 (20:20 IST)
नई दिल्ली। लोगों में खुद का वाहन रखने की इच्छा बढ़ने और पिछले लंबे समय से दबी मांग के सामने आने से समाप्त वित्त वर्ष के आखिरी माह मार्च में वाहन कंपनियों की बिक्री में जोरदार वृद्धि दर्ज की गई। मारुति सुजूकी, हुंदै और टाटा मोटर्स जैसी प्रमुख कंपनियों ने गुरुवार को मार्च माह के बिक्री आंकड़े जारी किए, जिसमें अच्छी वृद्धि बताई गई।
टोयोटा किर्लोस्कर मोटर, होंडा कार्स और महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा (एम एण्ड एम) ने भी मार्च के बिक्री के बेहतर आंकड़े जारी किए हैं। पिछले साल अप्रैल में प्रदूषण मानक बीएस- छह लागू होने और कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के कारण देशव्यापी लॉकडाउन लगा होने की वजह से कारों, अन्य वाहनों की बिक्री पर प्रतिकूल असर पड़ा था।

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजूकी इंडिया (एमएसआई) ने कहा कि मार्च 2021 में उसकी बिक्री 1,49,518 कारों की हुई। एक साल पहले मार्च में कंपनी ने केवल 76,976 इकाइयों की ही बिक्री की थी। एक साल पहले यानी 2020 में कारों का उत्पादन और विपणन दोनों ही कोविड- 19 महामारी के कारण प्रभावित हुए थे।

एसएसआई ने एक वक्तव्य में कहा, मार्च 2020 में कोविड-19 संबंधी परेशानियों के चलते घरेलू बिक्री कारोबार में 48 प्रतिशत गिरावट आई। यह देखने की बात है कि मार्च 2021 में जो बिक्री हुई है वह मार्च 2019 के ही स्तर पर पहुंची है।

एमएसआई ने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में उसकी कुल घरेलू बिक्री 13,23,396 कारों की हुई जो कि इससे पिछले वित्त वर्ष में हुई कुल 14,36,124 वाहनों की बिक्री से कम रही है। वहीं, हुंदै मोटर इंडिया ने कहा कि मार्च में उसकी घरेलू बिक्री 52,600 कारों की रही। एक साल पहले मार्च 2020 में उसने 26,300 कारों की आपूर्ति की थी। कंपनी ने कहा, क्रेटा, वेन्यू, वर्ना, निओस और नई आई20 इस दौरान सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाले वाहन रहे।

मार्च 2021 में कंपनी ने कुल 64,621 वाहन बेचे। इस दौरान कंपनी को पिछले कुछ महीनों से बिक्री में आ रही तेजी का लाभ मिला। हुंदै मोटर इंडिया के निदेशक (बिक्री, विपणन और सेवा) तरुण गर्ग ने एक बयान में यह कहा।

टाटा मोटर्स यात्री वाहन बिक्री की यदि बात की जाए तो मार्च में कंपनी ने 29,654 वाहन बेचे, जबकि एक साल पहले मार्च में उसने मात्र 5,676 वाहन ही बेचे थे। टाटा मोटर्स यात्री वाहन व्यवसाय इकाई के अध्यक्ष शैलेश चंद्र ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में यात्री कार उद्योग में मजबूत वृद्धि रही। एक साल पहले के निम्न तुलनात्मक आधार इसकी मुख्य वजह रहा। इसके अलावा व्यक्तिगत वाहन की मांग बढ़ने से बिक्री का आंकड़ा बढ़ा है।

मार्च में समाप्त वित्त वर्ष 2020-21 में टाटा मोटर्स की कुल यात्री वाहन बिक्री 2,22,025 इकाई रही जो कि एक साल पहले के 1,31,196 इकाइयों के मुकाबले 69 प्रतिशत अधिक रही। इसी प्रकार टोयोटा किर्लोस्कर मोटर ने कहा कि उसने पिछले महीने यानी मार्च में 15,001 कारें बेचीं। यह 2013 के बाद मार्च महीने में कंपनी की सबसे बड़ी घरेलू बिक्री हुई है। इससे पहले मार्च 2020 में कंपनी ने 7,023 वाहन बेचे थे।

महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा ने मार्च 21 में घरेलू बाजार में 16,700 वाहन बेचे। एक साल पहले उसने केवल 3,383 वाहन ही बेचे थे। होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड ने मार्च में 7,103 वाहन बेचने की जानकारी दी है। एक साल पहले उसने मार्च में 3,697 वाहन बेचे थे। दुपहिया वाहनों के मामले में हीरो मोटोकार्प ने मार्च में कुल 5,44,340 मोटरसाइकल और स्कूटर घरेलू बाजार में बेचे।

एक साल पहले उसकी बिक्री मार्च में 3,16,685 दुपहिया की रही थी। वहीं टीवीएस मोटर कंपनी ने कहा कि उसने मार्च में घरेलू बाजार में 2,02,155 दुपहिया वाहन बेचे। एक साल पहले मार्च में उसने 94,103 दुपहिया वाहन बेचे थे। रॉयल एनफील्ड ने मार्च में 60,173 मोटरसाइकलें बेचीं। एक साल पहले इसी माह में उसने 32,630 मोटरसाइकलें बेची थीं।(भाषा)



और भी पढ़ें :