शेयर बाजार में भारी गिरावट

सेंसेक्स 480 अंक टूटा

मुंबई (वार्ता)| वार्ता|
पिछले तीन सप्ताह से तेज रहे घरेलू शेयर बाजारों का विदेशों से मिले नकारात्मक संकेतों तथा मुनाफा वसूली के लिए ताबड़तोड़ बिकवाली के जबरदस्त दबाव से सोमवार को दम निकल गया। बंबई स्टॉक एक्सचेंज के सेंसेक्स ने 480 अंकों का तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने 130 अंकों का गोता लगाया।

धातु, बैंकिंग, टेक्नोलॉजी, रियलिटी, आईटी, पॉवर तथा तेल और गैस के शेयरों में जबरदस्त बिकवाली का असर बाजार पर साफ दिखा और सत्र की शुरुआत में ही कमजोर खुला सेंसेक्स पिछले कारोबारी सत्र के 10048.49 अंकों की तुलना में 480.35 अंक औंधे मुँह गिरते हुए 9568.14 अंक पर बंद हुआ।

सत्र के दौरान यह एक समय 9902.35 अंक ऊँचे में और 9520.96 अंक नीचे भी रहा। मिडकैप में भी 43.57 अंकों की तथा स्मालकैप में 38.06 अंकों की गिरावट आई।
निफ्टी हालाँकि आज स्थिर खुला, लेकिन बाद में भारी उथलपुथल के बीच पिछले कारोबारी सत्र के 3108.65 अंकों की तुलना में 130.50 अंक लुढ़कते हुए 2978.15 अंकों पर बंद हुआ।

अमेरिकी प्रशासन द्वारा ऑटो क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों जनरल मोटर्स और क्रिस्लर के पुनर्गठन की योजनाओं को सिरे से खारिज करने से यूरोप तथा एशियाई बाजारों में वैश्विक अर्थव्यवस्था के अभी भी संकटग्रस्त बने रहने का संकेत गया।
हांगकांग के हैंगसेई में 4.7 प्रतिशत, चीन के शंघाई कम्पोजिट में 0.7 प्रतिशत, ब्रिटेन के एफटीएसई में 2.6 प्रतिशत तथा जापान के निक्केई में 4.5 प्रतिशत की गिरावट आई।

देश में आम चुनाव के कारण अनिश्चितता का माहौल होने से बाजार को लेकर संशय की स्थिति रही, जिसका फायदा मंदड़ियों ने उठाया।

सरकार और रिजर्व बैंक की ओर से उठाए गए मौद्रिक और वित्तीय उपायों के बावजूद माँग नहीं बढ़ने से अर्थव्यवस्था के मंद रहने का संकेत गया। बाजार विश्लेषकों का कहना है कि मंदी के दौर में आई तेजी खतरनाक रहती है, शायद बाजार ने आज इसी कहावत को चरितार्थ किया।
उनका कहना है कि विदेशी निवेशकों ने ज्यादातर खरीदारी मार्च के शॉर्ट कवरिंग निबटारे के दौरान की। इसके बाद यह रफ्तार थम गई, लिहाजा विदेशी निवेशक आज बाजार से दूर रहे।

विश्लेषकों के मुताबिक शुक्रवार को बाजार में बनी हल्की बढ़त इस बात का संकेत दे रही थी कि आगामी सप्ताह इनमें मंदी आ सकती है।
धातु, रियलिटी और बैंकिंग क्षेत्र के शेयर, जो पिछले तीन सप्ताह से अच्छा कारोबार कर रहे थे, आज सबसे ज्यादा गिरावट में रहे। सेंसेक्स के कुल 904 शेयर फायदे में रहे, जबकि 1471 नुकसान में रहे। बाकी 98 में कोई बदलाव नहीं हुआ।

कन्ज्यूमर ड्यूरेबल और एचसी शेयरों में सिर्फ 0.53 प्रतिशत और 0.02 प्रतिशत की बढ़त रही, जबकि एफएमसीजी 2.06 प्रतिशत, ऑटो 2.58 प्रतिशत, तेल और गैस 2.64 प्रतिशत, पीएसयू 3.21 प्रतिशत, पॉवर 3.61 प्रतिशत, रियलिटी.7.24 प्रतिशत, धातु 7.40 प्रतिशत, बैंकिंग 8.58 प्रतिशत, आईटी 7.24 प्रतिशत और कन्ज्यूमर गुड्स 3.81 प्रतिशत की गिरावट में रहे।




और भी पढ़ें :