प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए वरदान साबित होगी योगी सरकार की 'अभ्युदय योजना'

Author अवनीश कुमार| Last Updated: शुक्रवार, 12 फ़रवरी 2021 (12:55 IST)
लखनऊ। उत्तरप्रदेश में ने यूपीएससी, राज्य लोक सेवा आयोग, बैंकिंग, एसएससी जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए नि:शुल्क कोचिंग की व्यवस्था की है। इसके लिए योगी सरकार ने 'अभ्युदय योजना' की शुरुआत की है। इसकी शुरुआत 16 फरवरी से होगी और आवेदन की प्रक्रिया 10 फरवरी से शुरू हो गई है। इसकी जानकारी खुद उत्तरप्रदेश से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर रजिस्ट्रेशन शुरू होने की जानकारी दी है।
एग्जाम से पहले दी जाएगी ट्रेनिंग : अभ्युदय योजना के अंतर्गत छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए उच्‍चस्‍तरीय मार्गदर्शन और एग्जाम से पहले ट्रेनिंग दी जाएगी जिसमें संघ लोक सेवा आयोग, उत्तरप्रदेश लोक सेवा आयोग, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग, अन्‍य भर्ती बोर्ड, नीट, जेईई, एनडीए, पीओ, एसएससी, टीईटी, बीएड और अन्य परीक्षाएं शामिल की गई हैं। इन कोचिंग सेंटर्स में प्रदेश के छात्रों को आईएएस, आईपीएस और पीसीएस अधिकारी मुफ्त में कोचिंग देंगे। इसके तहत उत्तरप्रदेश के हर मंडल से 500 छात्र-छात्राओं का चयन किया जाएगा। इसके लिए अभ्यर्थी को //abhyuday.up.gov.in लिंक पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
क्या है 'अभ्युदय योजना'? : उत्तरप्रदेश के दूरदराज इलाकों में रहने वाले और गरीब तबके के होनहार छात्रों के लिए योगी सरकार 'अभ्युदय योजना' लेकर आई है। यह योजना उन विद्यार्थियों के लिए है, जो शहरों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए नहीं जा सकते। प्रदेश के हर मंडल में शुरू होने वाली अभ्युदय कोचिंग ऐसे छात्रों के लिए वरदान साबित होगी जिनके पास प्रतिभा है लेकिन संसाधनों की कमी में पीछे रह जाते हैं।
6 सदस्यीय राज्यस्तरीय समिति का गठन : इस योजना को सुचारु रूप से चलाने के लिए योगी सरकार ने अपर मुख्य सचिव समाज कल्याण की अध्यक्षता में 6 सदस्यीय राज्यस्तरीय समिति का गठन किया गया है। इसके अलावा मंडलायुक्त की अध्यक्षता में 12 सदस्यीय मंडलीय समिति का भी गठन किया गया है। राज्यस्तरीय समिति कंटेंट और पठन-पाठन सामग्री के लिए जरूरत के हिसाब से एक्सपर्ट को बुलाएगी। समिति शिक्षण कैलेंडर बनाने, विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं से संबंधित सामग्री तैयार करने का काम भी करेगी।



और भी पढ़ें :