UP: कासगंज में पुलिस हिरासत में मौत पर बवाल, ओवैसी ने की न्यायिक जांच की मांग

Asaduddin Owaisi
Last Updated: शुक्रवार, 12 नवंबर 2021 (10:54 IST)
हैदराबाद। उत्तरप्रदेश के में पूछताछ के लिए हिरासत में लिए गए एक की कथित रूप से पुलिस द्वारा पीटे जाने के कारण हुई का मामला गर्माता जा रहा है। ऑल इंडिया मजलिस -ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने

इस मामले को लेकर पुलिस पर हमला बोला है। पुलिस के अनुसार युवक ने अपनी जैकेट में लगी डोरी से फांसी लगा ली। मृत युवक का नाम अल्ताफ है।

ओवैसी ने सवाल किया कि नल में डोरी लगाकर कैसे कोई आत्‍महत्‍या कर सकता है? उन्‍होंने मामले की न्‍यायिक जांच की करते हुए आरोपी पुलिस वालों की फौरन गिरफ्तारी की मांग की। साथ ही कहा कि युवक अल्ताफ के परिवार को मुआवजा दिया जाना चाहिए। पुलिस वालों के ऐसे घटिया बयान से काम नहीं चलेगा। मामले में आरोपी पुलिस वालों को जल्‍द अरेस्‍ट किया जाए। इसके साथ ही अल्‍ताफ के घरवालों को उचित मुआवजा दिया जाए।
दूसरी ओर पुलिस अधीक्षक रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि मंगलवार को एक नाबालिग हिन्दू लड़की को कथित रूप से बहला-फुसलाकर साथ ले जाने के एक मामले में पूछताछ के लिए नगला सैयद इलाके के रहने वाले अल्ताफ (22) नामक युवक को हिरासत में लिया गया था। उन्होंने बताया कि पूछताछ के दौरान अल्ताफ ने हवालात के अंदर बने बाथरूम में जाने की इच्छा जताई इस पर उसे इजाजत दे दी गई, वहां उसने जैकेट के हुक में लगी डोरी से बाथरूम के नल में फंसा कर अपना गला घोंटने की कोशिश की। उन्होंने बताया कि देर तक नहीं लौटने पर पुलिस कर्मी बाथरूम में गए और अल्ताफ को अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी मौत हो गई है।



और भी पढ़ें :