महंगी पड़ेगी एटीएम से निकासी, 9 साल बाद RBI का बड़ा फैसला...

पुनः संशोधित शुक्रवार, 11 जून 2021 (10:13 IST)
नई दिल्ली। भारतीय (RBI) ने लगभग 9 वर्षों के बाद एटीएम लेन-देन से जुड़े नियमों में बदलाव की अनुमति दे दी। अब एटीएम से तय सीमा से ज्यादा बार निकासी महंगी पड़ सकती है।
ने कहा है कि ग्राहकों के लिए एटीएम के 5 बार फ्री में इस्तेमाल की सुविधा बनी रहेगी, लेकिन इसके बाद गैर के लिए 6 रुपए लगेंगे। वहीं वित्तीय लेनदेन यानी पैसे निकालने के लिए लगने वाला शुल्क 15 रुपए से बढ़ाकर 17 रुपए कर दिया गया है.
भारतीय रिजर्व बैंक ने लगभग 9 वर्षों के बाद एटीएम लेनदेन के लिए इंटरचेंज शुल्क संरचना में बढ़ोतरी की अनुमति दी। देशभर में एटीएम की तैनाती में बढ़ती लागत और बैंकों द्वारा एटीएम रखरखाव के खर्च को देखते हुए बैंकों को अब ज्यादा चार्ज लेने की अनुमति दी है।

खबरों के मुताबिक, RBI ने 1 अगस्त, 2021 से एटीएम से वित्तीय लेनदेन के लिए प्रति लेनदेन इंटरचेंज शुल्क 15 रुपए से बढ़ाकर 17 रुपए कर दिया है। गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 5 रुपए से बढ़ाकर 6 रुपए कर दिया है।
यह भी कहा जा रहा है कि 1 जनवरी 2022 से बैंकों को कस्टमर चार्ज के रूप में ग्राहकों से 21 रुपए वसूलने की इजाजत दे दी गई है। फिलहाल बैंकों को इसके लिए अधिकतम 20 रुपए तक चार्ज करने की अनुमति है।



और भी पढ़ें :