कमला हैरिस का ट्रंप पर आरोप, Covid 19 से निपटने में असफल रही अमेरिकी सरकार

Last Updated: गुरुवार, 8 अक्टूबर 2020 (11:38 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका में उपराष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार ने कोविड-19 से निपटने के अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के तरीके को देश के इतिहास में किसी प्रशासन की सबसे बड़ी असफलता करार दिया है। हैरिस ने उपराष्ट्रपति पद की बहस के दौरान अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी माइक पेंस पर तीखा हमला किया।
ALSO READ:
कमला हैरिस बोलीं, मेरी मां भी कहतीं ट्रंप को हराओ
कैलीफोर्निया से सीनेटर हैरिस (55) ने कोविड-19 वैश्विक महामारी का जिक्र करते हुए कहा कि इस प्रशासन की अयोग्यता के कारण अमेरिका के लोगों को बहुत बलिदान करना पड़ा है। अमेरिका में इस संक्रमण के कारण 2 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

हैरिस ने बुधवार रात को बहस की शुरुआत में कहा कि अमेरिकी लोगों ने हमारे देश के इतिहास में किसी भी राष्ट्रपति प्रशासन की अब तक की सबसे बड़ी असफलता देखी है। उन्होंने कहा कि लोगों को वह जानकारी दिए जाने की आवश्यकता है, जो वे सुनना नहीं चाहते लेकिन अपनी सुरक्षा के लिए उन्हें यह सुनना होगा।
हैरिस ने कहा कि प्रशासन की अयोग्यता के कारण उन्हें बहुत कुछ बलिदान करना पड़ा, वहीं उपराष्ट्रपति माइक पेंस (61) ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के कदमों ने सैकड़ों-हजारों अमेरिकियों की जान बचाई। हैरिस ने संकट से निपटने की अपनी योजना के बारे में कहा कि राष्ट्रपति पद के चुनाव में जो बिडेन की जीत होने पर उनका प्रशासन संक्रमित लोगों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाएगा, जांच करेगा, टीकाकरण करेगा और उसकी नि:शुल्क उपलब्धता सुनिश्चित करेगा।
उन्होंने कहा कि यदि ट्रंप प्रशासन में कोरोनावायरस का ऐसा टीका उपलब्ध हो जाता है जिसे वैज्ञानिक सलाहकार स्वीकार नहीं करते हैं तो वे उस टीके को स्वीकार नहीं करेंगी। लेकिन यदि डॉ. एंथनी फॉकी जैसे शीर्ष वैज्ञानिक सलाहकार टीके का समर्थन करते हैं तो वे टीके का समर्थन करेंगी।

इस बीच कोरोनावायरस से संक्रमित होने के कारण व्हाइट हाउस में क्वारंटाइन में रह रहे ट्रंप ने बहस में पेंस के प्रदर्शन की प्रशंसा करते हुए ट्वीट किया, माइक पेंस अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। वे (हैरिस) चूक करने वाली मशीन हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :