लॉर्ड्स टेस्ट में होंगे स्पिन के दर्शन! इंग्लैंड टीम में शामिल हुए मोइन अली

Last Updated: मंगलवार, 10 अगस्त 2021 (18:02 IST)
लंदन:की पिच तेज गेंदबाजों की पिच मानी जाती है लेकिन इस बार की टीम ही सीरीज में मेजबान की ओर से पहली बार स्पिन के दर्शन कर रही है।
ऑफ स्पिन आलराउंडर मोईन अली को के खिलाफ गुरूवार से लॉर्ड्स में शुरू होने वाले दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के लिए इंग्लैंड की टीम में शामिल किया गया है।
मोईन इस समय हंड्रेड में बर्मिंघम फीनिक्स की कप्तानी कर रहे हैं, उनके मंगलवार को टीम के साथ जुड़ने की उम्मीद है और यह माना जा रहा है कि उन्हें सीधे अंतिम एकादश में उतारा जाएगा।

मोईन इस समय शानदार फॉर्म में हैं। वह हंड्रेड में छह मैचों में 189 रन बना चुके हैं लेकिन वह पिछले छह महीनों से लाल बाल क्रिकेट में नहीं खेले हैं।

लम्बे फॉर्मेट में मोईन का आखिरी मैच चेन्नई में था जहां उन्होंने इंग्लैंड की हार में कुल आठ विकेट लिए थे। उस मैच के बाद इंग्लैंड की रोटेशन नीति के तहत उन्हें स्वदेश लौटना पड़ा था। इंग्लैंड ने ट्रेंट ब्रिज में ड्रा रहे पहले टेस्ट में कोई स्पिनर नहीं उतारा था। कप्तान जो रुट को छोड़कर टीम की शेष बल्लेबाजी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में आलोचना के घेरे में रही थी।

इंग्लैंड के मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड ने सोमवार को इंग्लैंड के मीडिया से कहा, ‘‘हां, मुझे लगता है कि हमारे शीर्ष क्रम को अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘जो (रूट) का प्रदर्शन पिछले छह महीनों में वास्तव में शानदार रहा है लेकिन हम चाहते हैं जो खिलाड़ी उनके साथ बल्लेबाजी करते हैं वे भी रन बनायें। हमें अन्य खिलाड़ियों से भी अच्छे प्रदर्शन की जरूरत है ताकि रूट पर से दबाव कम हो।’’

रूट ने इस साल अभी तक चार शतक लगाये हैं। उन्होंने पहले टेस्ट मैच में पहली पारी में 64 और दूसरी पारी में 109 रन बनाये थे।
सिल्वरवुड ने कहा, ‘‘हमें यह स्वीकार करना होगा कि हम रन नहीं बना पा रहे हैं और हमें इस पर गौर करना होगा कि ऐसा क्यों हो रहा है। ऐसा नहीं है कि प्रयास नहीं किया जा रहा है। हमें वह फार्मूला निकालने की जरूरत हो जो हमारे अनुकूल हो। हम इस पर काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें कुछ करना होगा। हम चाहते हैं कि खिलाड़ी फिर से फॉर्म में लौटें और आत्मविश्वास हासिल करें लेकिन यदि ऐसा नहीं होता तो निश्चित तौर पर मुझे इससे हटकर सोचना होगा। किसी स्तर पर मुझे निर्णय करना होगा।’
अनुभवी मोईन को लाने से इंग्लैंड को अपनी लाइनअप में पांचवां गेंदबाज जोड़ने में मदद मिलेगी और साथ ही मध्य क्रम में बेन स्टोक्स की अनुपस्थिति में बल्लेबाजी में मजबूती आएगी।



और भी पढ़ें :