पंजशीर के प्रवेश द्वार गुलबहार में भीषण जंग, तालिबान ने उड़ाया पुल

पुनः संशोधित बुधवार, 1 सितम्बर 2021 (12:44 IST)
काबुल। के में और नॉर्दन अलायंस में भीषण जंग शुरू हो गई है। तालिबान हर हाल में जल्द से जल्द इस इलाके को अपने कब्जे में करना चाहता है वहीं नॉर्दन अलायंस ने भी इसे बचाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है।
ALSO READ:

कौन था ‘पंजशीर का शेर’, जिसे पकड़ने के लिए 9 बार रचा ‘षड्यंत्र’, लेकिन एक बार भी घाटी नहीं लांघ सकी ‘सोवियत सेना’
स्थानीय पत्रकार नतिक मलिकजादा के अनुसार, पंजशीर के प्रवेश द्वार माने जाने वाले गुलबहार क्षेत्र में दोनों सेनाएं आमने सामने हैं। अपुष्‍ट सूत्रों के अनुसार, तालिबान ने गुल बहार रोड को पंजशीर से जोड़ने वाले पुल को गिरा दिया है।
मलिकजादा ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि पंजशीर घाटी के डिफेंस लाइन्स के कई हिस्सों में भीषण झड़पें हो रही हैं। परवान प्रांत का जबल सरज जिले, पंजशीर का ख्वाक दर्रा और बगलान प्रांत का अंदर्ब जिले में भी टकराव की स्थिति दिखाई दे रही है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिकी सेना के अफगानिस्तान से जाने के बाद तालिबान का काबुल एयरपोर्ट समेत पूरे देश पर कब्जा हो गया है। केवल पंजशीर घाटी ही उसके कब्जे से दूर है। यह इलाका नॉर्दन अलायंस का गढ़ माना जाता है। अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद सीनियर विद्रोही लड़ाकों का नेतृत्व कर रहे हैं। उपराष्‍ट्रपति सालेह भी अफगानी सैनिकों के साथ उनका समर्थन कर रहे हैं।
पंजशीर को 20 साल पहले भी तालिबान कब्जाने में नाकामयाब रहा था। इस बार वह हर हाल में पंजशीर को कब्जाने की कोशिश कर रहा है। विद्रोहियों ने 300 से ज्यादा तालिबानी इलाकों को मार गिराया है।



और भी पढ़ें :