0

समर ड्रिंक : बढ़ रही है गर्मी, गुलाब का शर्बत देगा राहत

गुरुवार,मार्च 4, 2021
0
1
बूंदी के लड्‍डू बनाने के लिए सबसे पहले बेसन को छान लें। उसमें चुटकी भर मीठा पीला रंग मिलाइए और पानी से घोल तैयार कर लीजिए।
1
2
भगवान श्री विष्णु पीले रंग की चीजों का नैवेद्य चढ़ाने से अतिप्रसन्न होते है और अपने भक्तों पर अपनी असीम कृपा बरसाते हुए विशेष वरदान भी देते हैं।
2
3
एक कड़ाही में घी गरम करके आटा डालकर धीमी आंच पर गुलाबी होने तक सेकें। एक बर्तन में अलग से पानी गरम करके आटे में डाल कर जल्दी-जल्दी चलाएं।
3
4
एक कप मैदा छना हुआ, एक कप दूध, एक चम्मच सौंफ, डेढ़ कप शक्कर, एक चम्मच नींबू रस, थोड़ासा मीठा रंग और कुछेक केसर के लच्छे,
4
4
5
ऋतुराज वसंत के सुहाने मौसम में आप भी अपने रिश्ते में प्यार की मिठास घोलना चाहती हैं, तो अवश्य ट्राई करें ये वासंती व्यंजन...
5
6
दही को रवई अथवा मिक्सी में अच्छे से फेंट लें। अब केसर के लच्छों को गुनगुने दूध में कुछ देर तक भिगोकर रखें। पुन: दही में दूध और थोड़ासा पानी और शक्कर मिला
6
7
सबसे पहले 1 कप दूध में कोको पावडर घोल लें। बचे दूध में शकर मिलाकर कुछ देर उबालें। फिर इसमें कोको मिश्रण एवं किसी हुई चॉकलेट डालकर हिलाते हुए
7
8
मौनी अमावस्या पर वासंती खीर बनाने के लिए सबसे पहले दूध को भारी पेंदे के बर्तन में लेकर, छानकर धीमी आंच पर दानेदार होने तक पकाएं।
8
8
9
सबसे पहले मावे को कद्दूकस करके धीमी आंच पर थोड़ी देर भूनें। खजूर के बीज निकाल कर रख
9
10
सबसे पहले आइसक्रीम, स्ट्रॉबेरी, दूध, शकर डालकर मिक्स करके ठंडा करने के लिए रख दें। अब गुनगुने पानी में जिलेटीन फूलने तक रखें
10
11
सबसे पहले सूजी व मावा हल्का सेंकें। ठंडा होने पर शकर का बूरा, चॉकलेट पावडर मिलाएं।
11
12
सबसे पहले एक छोटी कटोरी में एक बड़ा चम्मच दूध और केसर मिलाकर एक तरफ रख दें। अब एक बड़े पैन में दूध और गाजर को एक साथ धीमी आंच पर उबालने रख दें।
12
13
माघ मास में संकष्टी अथवा तिलकुंदा चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश को तिलकूट का प्रसाद बनाकर भोग लगाया जाता है। इस दिन तिल के लड्डू भी प्रसाद में बनाए जाते हैं।
13
14
एक कड़ाही में, नारियल, काजू, पिस्ता व शकर डालें तथा दूध डाल कर पकाते रहें। मावा जैसा गाढ़ा होने लगे तो आंच से उतारें व इलायची मिला लें।
14
15
एक कड़ाही में दूध डालकर उबलने के लिए रखें। जब वह उबलने लगे तो उसमें शकर डालें और तब तक चलाएं जब तक कि गाढ़ा न हो जाए।
15
16
दूध को मोटे तले वाले बर्तन में डालकर गैस पर चढ़ा दें। दूध में चार-पांच उबाल आने पर चावल का पूरा पानी निथार कर उसमें डाल दें
16
17
सबसे पहले बेसन को छान लें। उसमें चुटकी भर मीठा पीला रंग मिलाइए और पानी से घोल तैयार कर लीजिए। अब एक तपेले में पानी एवं शकर को मिलाकर एक तार की चाशनी तैयार कर लें।
17
18
तिरंगा केक बनाने के लिए सबसे पहले मलाई में आधा कटोरी शकर व गुलाब जल मिलाकर इसे अच्‍छी तरह फेंटे। बाकी बची हुई शकर आम में मिलाकर उसे फेंटें।
18
19
सबसे पहले मलाई में आधा कटोरी शकर व गुलाब जल मिलाकर इसे अच्‍छी तरह फेंटे। बाकी बची हुई शकर आम में मिलाकर उसे फेंटें।
19