सेंसेक्स 145 अंक के उछाल से नए उच्चस्तर पर, निफ्टी का भी नया रिकॉर्ड

पुनः संशोधित सोमवार, 16 अगस्त 2021 (19:57 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी के अलावा आईटी और फार्मा कंपनियों के शेयरों में जोरदार लिवाली से सोमवार को सेंसेक्स 145 अंक की बढ़त के साथ अपने नए उच्चस्तर पर पहुंच गया। वहीं निफ्टी कारोबार की समाप्ति पर 33.95 अंक या 0.21 प्रतिशत के लाभ से 16,563.05 अंक के अपने नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ।
का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में 145.29 अंक या 0.26 प्रतिशत के लाभ से 55,582.58 अंक के अपने सर्वकालिक नए उच्चस्तर पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान इसने 55,680.75 अंक का अपना सर्वकालिक उच्चस्तर भी छुआ।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी कारोबार की समाप्ति पर 33.95 अंक या 0.21 प्रतिशत के लाभ से 16,563.05 अंक के अपने नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। दिन में कारोबार के दौरान यह 16,589.40 अंक के अपने सर्वकालिक उच्चस्तर तक गया।

सेंसेक्स की कंपनियों में टाटा स्टील का शेयर सबसे अधिक करीब चार प्रतिशत चढ़ गया। बजाज फाइनेंस, महिंद्रा एंड महिंद्रा, बजाज फिनसर्व और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर भी लाभ में रहे। वहीं, दूसरी ओर मारुति, बजाज ऑटो, पावरग्रिड और अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयरों में गिरावट रही। बीएसई मिडकैप और स्मॉलकैप में 0.57 प्रतिशत तक की गिरावट आई।

रेलिगेयर ब्रोकिंग के उपाध्यक्ष शोध अजित मिश्रा ने कहा, किसी प्रमुख उत्प्रेरक के अभाव में बाजार में उत्साह की कमी थी। अंत में बाजार मामूली लाभ के साथ बंद हुए। रिलायंस के शेयरों में भारी लिवाली तथा धातु और वित्तीय कंपनियों के शेयरों की मदद से बाजार ऊपर बंद हुआ।

मिश्रा ने कहा कि तिमाही नतीजों का समय काफी हद तक पीछे छूट गया है। ऐसे में अंकुशों में ढील तथा टीकाकरण की रफ्तार से बाजार की दिशा तय होगी। रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने कहा, प्रमुख सूचकांक आज लाभ में रहे, जबकि मिडकैप और स्मॉलकैप दबाव में रहे।

उन्होंने कहा कि धातु शेयरों में तेजी तथा वित्तीय सेवा कंपनियों के शेयरों में लाभ से निफ्टी को फायदा मिला।अन्य एशियाई बाजारों में हांगकांग के हैंगसेंग, जापान के निक्की तथा दक्षिण कोरिया के कॉस्पी में नुकसान रहा। वहीं चीन के शंघाई में लाभ रहा। दोपहर के कारोबार में यूरोपीय बाजार नुकसान में कारोबार कर रहे थे।

इस बीच, अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट कच्चा तेल 1.33 प्रतिशत के नुकसान से 69.65 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था। अंतर बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार तथा मुद्रा बाजार सोमवार को पारसी नववर्ष के मौके बंद रहे।(भाषा)



और भी पढ़ें :