ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग पर दो गुटों में बंटी एमपी कांग्रेस

jyotiraditya scindia
विशेष प्रतिनिधि| पुनः संशोधित सोमवार, 8 जुलाई 2019 (15:37 IST)
भोपाल। में राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद अब कांग्रेस में नए अध्यक्ष की खोज जारी है। इस बीच पद से इस्तीफा देने वाले पार्टी के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग ने जोर पकड़ लिया है।
इस बीच में प्रदेश कांग्रेस दफ्तर के बाहर एक बैनर लगाकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी से ज्योतिरादित्य सिंधिया को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की अपील की है।

खास बात यह है कि पोस्टर में पीसीसी की तरफ से राहुल गांधी को अपील का उल्लेख है। पीसीसी के बाहर इस बैनर के लगने के बाद कमलनाथ सरकार में शामिल कई सिंधिया समर्थक कैबिनेट मंत्रियों ने खुलकर अपने नेता को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग कर डाली।

सिंधिया समर्थक और कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पोस्टर को कार्यकर्ताओं की इच्छा बताते हुए कहा कि अगर गांधी परिवार से कोई पार्टी की कमान अपने हाथ में नहीं लेता है तो सिंधिया को कांग्रेस का राष्ट्रीय बनाना चाहिए क्योंकि इस समय कांग्रेस को युवा नेतृत्व की जरूरत है।

इसके साथ ही प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने पोस्टर को कार्यकर्ताओं की भावना बताते हुए कहा कि आज कांग्रेस को युवा नेतृत्व की जरूरत है।
सिंधिया को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग को लेकर प्रदेश कांग्रेस दो गुटों में बंटी हुई दिखाई दे रही है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह के भाई और कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि एक गलत फैसला पार्टी को और पीछे ले जा सकता है।

लक्ष्मण सिंह ने कहा कि पार्टी में कई अनुभवी नेता है जिनको अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए। कमलनाथ सरकार में सीनियर मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने इसे कार्यकर्ताओं का उत्साह बताते हुए कहा गांधी परिवार को ही कांग्रेस का नेतृत्व करना चाहिए और हर कार्यकर्ता चाहता है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पार्टी की कमान अपने हाथ में ले। कांग्रेस में इस विरोध और पोस्टर पर विवाद होने के बाद आनन-फानन में पीसीसी के बाहर लगे बैनर को हटा दिया गया।

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने जब किसी युवा को पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की मांग की है, तब से सियासी गलियारों में सिंधिया का नाम तेजी से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने की दौड़ में सबसे आगे चल रहा है।



और भी पढ़ें :