शनिवार, 13 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. प्रादेशिक
  4. Former Intel India head Avtar Saini dies in accident
Last Updated : गुरुवार, 29 फ़रवरी 2024 (12:43 IST)

इंटेल इंडिया के पूर्व कंट्री हेड की तेज रफ्तार कैब ने ली जान

साथियों के साथ साइकिल से जा रहे अवतार सैनी

avtar saini
Avtar Saini news in hindi :  इंटेल इंडिया के पूर्व ‘कंट्री हेड’ अवतार सैनी की महाराष्ट्र के नवी मुंबई में साइकिल चलाते समय तेज रफ्तार कैब की चपेट में आने से मौत हो गई।
 
दुर्घटना बुधवार सुबह करीब 5.50 बजे उस समय हुई जब सैनी (68) नेरुल इलाके में पाम बीच रोड पर साथियों के साथ साइकिल चला रहे थे। एक तेज रफ्तार कैब ने सैनी की साइकिल को पीछे से टक्कर मार दी और वहां से भागने की कोशिश की। हादसे में सैनी घायल हो गए। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
 
पुलिस ने कैब चालक के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। आरोपी को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है।
 
जानिए कौन हैं अवतार सैनी : अवतार सैनी एक माइक्रोप्रोसेसर डिजाइनर और डेवलपर थे। उन्होंने वीजेटीआई, मुंबई से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री ली। इसके बाद मिनेसोटा विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री हासिल की।
 
वह अप्रैल 1982 में मैग्नेटिक बबल मेमोरी के क्षेत्र में प्रोडक्ट इंजीनियर के रूप में इंटेल में शामिल हुए। 1980 के दशक के दौरान सैनी ने इंटेल 386 और 486 माइक्रोप्रोसेसर की कार्यप्रणाली पर काम किया था। उन्होंने कंपनी के पेंटियम प्रोसेसर का डिजाइन तैयार करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
 
1989 में, अवतार को पेंटियम प्रोसेसर डिजाइन टीम का सह-नेतृत्व करने के लिए पदोन्नत किया गया, जहां उन्होंने डिजाइन और उसके बड़े पैमाने पर उत्पादन का प्रबंधन किया। 1994 में उन्हें सांता क्लारा माइक्रोप्रोसेसर डिवीजन के महाप्रबंधक के रूप में पदोन्नत किया गया, जहां उन्होंने इंटेल की अगली पीढ़ी के 64 बाइट आर्किटेक्चर माइक्रोप्रोसेसर का प्रबंधन किया।
 
मई 1996 में, वह प्लेटफॉर्म कंपोनेंट्स डिवीजन का नेतृत्व करने के लिए कैलिफोर्निया चले गए। यहां वे इंटेल आर्किटेक्चर प्लेटफॉर्मर्म के लिए चिपसेट और ग्राफिक्स समाधान के लिए जिम्मेदार थे। सितंबर 1999 में, वे को निदेशक दक्षिण एशिया के रूप में भारत आ गए। जनवरी 2004 में अवतार ने इंटेल छोड़ दिया।