राजस्थान में पेट्रोल के बाद अब डीजल भी पहुंचा 100 रुपए प्रति लीटर

पुनः संशोधित शुक्रवार, 11 जून 2021 (17:36 IST)
नई दिल्ली। तेल कंपनियों ने शुक्रवार को और के दाम में एक बार फिर बढ़ोतरी की। इससे राजस्थान में पेट्रोल के बाद अब डीजल का मूल्य भी 100 रुपए लीटर के करीब पहुंच गया है। सार्वजनिक क्षेत्र की ईंधन कंपनियों की अधिसूचना के अनुसार पेट्रोल के दाम में 29 पैसे लीटर, जबकि डीजल में 28 पैसे प्रति लीटर वृद्धि की गई है।
4 मई के बाद यह 22वां मौका है जब ईंधन के दाम बढ़ाए गए हैं। इससे देशभर में पेट्रोल और डीजल के दाम रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए हैं। छह राज्यों एव केंद्र शासित प्रदेशों- राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और लद्दाख में पेट्रोल का खुदरा मूल्य 100 रुपए लीटर से ऊपर पहुंच गया है।

दिल्ली में पेट्रोल अब तक के उच्चतम स्तर 95.85 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया, जबकि डीजल 86.75 रुपए प्रति लीटर पर है। स्थानीय करों और मूल्य वर्धित कर (वैट) की दरें अलग-अलग होने के कारण ईंधन के दाम विभिन्न राज्यों में अलग-अलग होते हैं।

भारत-पाकिस्तान सीमा के करीब राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में ईंधन के दाम सबसे अधिक हैं। वहां पेट्रोल 106.94 रुपए लीटर, जबकि डीजल 99.80 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया है। यह देश का पहला जिला है, जहां इस साल फरवरी के मध्य में पेट्रोल 100 रुपए लीटर पर पहुंच गया था।

बेहतर गुणवत्ता वाले पेट्रोल की कीमत शहर में 110.22 रुपए लीटर, जबकि 103.47 रुपए लीटर है। राजस्थान देश में पेट्रोल और डीजल पर सबसे ऊंची दर से वैट लगाता है। उसके बाद मध्य प्रदेश, महराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना का स्थान है।

मुंबई 29 मई को पहला महानगर बना, जहां पेट्रोल 100 रुपए लीटर के भाव पर पहुंचा। वहां अब पेट्रोल 102.40 रुपए लीटर जबकि डीजल 94.15 रुपए लीटर पर है। चार मई से अब तक 22 बार ईंधन के दाम बढ़ने से पेट्रोल जहां 5.45 रुपए लीटर महंगा हुआ, वहीं डीजल के दाम में 6.02 रुपए लीटर की तेजी आई है।

तेल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय बजार में मानक ईंधन के पिछले 15 दिन के औसत मूल्य और विदेशी मुद्रा विनिमय दर में होने वाली घटबढ़ के आधार पर पेट्रोल और डीजल की कीमतों को रोजाना संशेधित करती हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :