कृषि कानूनों के खिलाफ पश्चिम बंगाल विधानसभा का 2 दिवसीय सत्र

Last Updated: शनिवार, 9 जनवरी 2021 (14:36 IST)
कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा का 2 दिवसीय विशेष सत्र 27 जनवरी को शुरू होगा जिसमें राज्य सरकार केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित कर आंदोलनकारी किसानों के मुद्दों पर चर्चा करेगी। राज्य के संसदीय मामलों के मंत्री पार्थ चटर्जी ने शुक्रवार रात पत्रकारों के बताया कि विधानसभा अध्यक्ष बिमान बंधोपाध्याय को पत्र भेजकर विशेष सत्र बुलाने का अनुरोध किया गया है।
ALSO READ:
जेपी नड्डा ने की एक मुट्ठी चावल अभियान की शुरुआत, भाजपा का बंगाल में 73 लाख किसानों को साधने का प्लान
उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान जीएसटी से संबंधित मुद्दों पर भी चर्चा की जाएगी। चटर्जी ने कहा कि केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ एकजुट होने के लिए प्रस्ताव का मसौदा कांग्रेस और वामदलों को भी भेजा जाएगा। वामदलों और कांग्रेस ने 1 जनवरी को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से कृषि कानूनों को लेकर विधानसभा का सत्र बुलाने का अनुरोध किया था। (भाषा)



और भी पढ़ें :