फिर बदला मौसम का मिजाज, बेमौसम बारिश से पारा लुढ़का, उत्तर भारत में बढ़ेगी ठंड

पुनः संशोधित बुधवार, 8 जनवरी 2020 (22:39 IST)
नई दिल्ली। देश के उत्तरी भाग में विभिन्न जगहों पर बुधवार को बेमौसम और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में भारी बर्फबारी के कारण क्षेत्र में तापमान में गिरावट आई है।
दिल्ली में बारिश : राष्ट्रीय राजधानी और आसपास के इलाके में रूक-रूक कर बारिश होने से कई जगहों पर सड़कों पर यातायात पर असर पड़ा। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि न्यूनतम तापमान 9.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

सफदरजंग वेधशाला में 6 मिलीमीटर, पालम वेधशाला में 5.3 मिलीमीटर जबकि रिज इलाके में 6.8 मिलीमीटर बारिश हुई। लोधी रोड और आया नगर वेधशाला में क्रमश: 10 मिलीमीटर और 5.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।
हिमाचल में बर्फबारी : पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र शिमला, मनाली, कुफरी और डलहौजी सहित हिमाचल प्रदेश के कई स्थानों पर बर्फबारी हुई। बर्फबारी का मजा लेने के लिए पर्यटक भी उमड़ पड़े हैं। हालांकि, कई जगहों पर रास्ता बंद हो गया। केलांग में पारा शून्य से 5.6 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया।
श्रीनगर में शून्य से 0.4 नीचे तापमान दर्ज किया गया। उत्तरी कश्मीर में गुलमर्ग में शून्य से 7.6 डिग्री नीचे न्यूनतम तापमान रहा।
जम्मू श्रीनगर राजमार्ग खुला, हेलीकॉप्टर सेवा बाधित : रामबन जिले में भारी हिमपात और भूस्खलन के कारण पिछले दो दिन से बंद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को बुधवार दोपहर फंसे हुए वाहनों के लिए खोल दिया गया। अधिकारियों ने बताया कि दृश्यता में कमी के चलते रियासी जिले में माता वैष्णो देवी मंदिर तक हेलीकॉप्टर सेवा दूसरे दिन भी बाधित रही।

बादल छाने, बूंदाबांदी व ठंडी हवाएं चलने के कारण राजस्थान के विभिन्न इलाकों में बुधवार को एक बार फिर सर्दी ने जोर पकड़ लिया। राज्य के कई इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई और ठंडी हवाएं चल रही हैं।
यूपी में बारिश ने बढ़ाई ठंड : उत्तर प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में तड़के शुरू हुई बारिश के कारण ठंड बढ़ गई है। साथ ही तेज चल रही हवाओं ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के विभिन्न जिलों में अलसुबह से रुक-रुककर बारिश का क्रम जारी रहा। वर्षा होने से ठंड में इजाफा महसूस किया गया। इस दौरान तेज हवा चलने से सर्दी की तीव्रता और बढ़ गई।
आंचलिक मौसम केन्द्र की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान भी राज्य के विभिन्न स्थानों पर बारिश हुई। इस अवधि में अकबरपुर, सफीपुर, कानपुर, बागपत, मेरठ, कैराना, बुढ़ाना और मुजफ्फरनगर में एक—एक सेंटीमीटर वर्षा रिकार्ड की गयी।

पंजाब और हरियाणा में भी बारिश : पंजाब और हरियाणा के विभिन्न हिस्सों में बारिश हुई जबकि क्षेत्र के ज्यादातर स्थानों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया। दोनों ही राज्यों के कई स्थानों पर पिछले दो दिनों से बारिश हो रही है।
मौसम विभाग के अनुसार, पंजाब में अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में क्रमश: न्यूनतम तापमान 7, 10.1 और 11.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हरियाणा में अंबाला, हिसार और करनाल में न्यूनतम तापमान क्रमश: 9.8, 11.2, 11.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया जो कि सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस अधिक है। नारनौल, रोहतक, भिवानी और सिरसा में न्यूनतम तापमान क्रमश: 11, 10.8, 8.2 और 10.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
ओडिशा के विभिन्न हिस्से में अगले तीन दिनों में बारिश का अनुमान है। ऐसे में राज्य सरकार ने जिलाधिकारियों को खड़ी फसल को बचाने के लिए तुरंत कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। पश्चिम बंगाल में कलिमपोंग तीन डिग्री न्यूनतम तापमान के साथ सबसे ठंडा स्थान रहा।

मध्यप्रदेश के उत्तरपश्चिमी हिस्से में चक्रवाती प्रवाह के कारण शुक्रवार सुबह तक अधिकतर जिलों में हल्की से लेकर मध्यम स्तर की बारिश का अनुमान है।



और भी पढ़ें :