खुशखबर, स्पेशल ट्रेनें और स्पेशल किराया हुआ खत्म, अब पुरानी दरों पर ही होगा सफर

Last Updated: शनिवार, 13 नवंबर 2021 (01:37 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। रेलवे अब तक कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 को देखते हुए रेगुलर मेल/ एक्सप्रेस ट्रेनों को स्पेशल ट्रेनों के तौर पर चला रहा था, लेकिन अब ने इन ट्रेनों का फिर से सामान्य परिचालन बहाल करने का फैसला किया गया है यानी अब रेलयात्री वही पुरानी दरों के आधार पर अपना सफर कर सकेंगे।
खबरों के अनुसार, मेल/एक्सप्रेस स्पेशल और हॉलिडे स्पेशल ट्रेनों की सेवा अब रेगुलर ट्रेनों के जैसी होगी। ये ट्रेनें फिर से रेगुलर नंबर के साथ दौड़ेंगी। साथ ही स्पेशल किराए के दिन भी अब खत्‍म होने वाले हैं और फिर से वही पुराना रेगुलर किराया लागू किया जाएगा। अभी स्पेशल के रूप में चल रही ट्रेनों में सामान्‍य से 30 फीसदी ज्यादा किराया वसूला जा रहा है।

रेलवे बोर्ड ने आज यहां इस आशय का एक परिपत्र सभी जोनल रेलवे के प्रधान मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधकों को जारी किया है। इस परिपत्र में कहा गया है कि समय सारिणी के अनुसार सभी नियमित सुपरफास्ट, मेल एक्सप्रेस एवं पैसेंजर गाड़ियों का परिचालन शुरू किया जाएगा। इन गाड़ियों के पुराने नंबर बहाल होंगे और पहले ये जिन श्रेणियों के अंतर्गत परिचालित होतीं थीं, उसी श्रेणी एवं उसी किराए की दर के हिसाब से टिकट जारी किए जाएंगे।

रेलवे के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार वर्तमान में 1744 गाड़ियां विशेष नंबर से चलाई जा रहीं हैं। अगले कुछ दिनों में उनके नंबर से शून्य हटा दिया जाएगा और उन्हें पुराने नंबरों से परिचालित किया जाएगा। विशेष नंबर होने के कारण कुछ गाड़ियों में ज्यादा किराया लिया जा रहा था, वह पुन: पूर्ववत हो जाएंगे। हालांकि सूत्रों ने यह भी कहा कि अनारक्षित साधारण श्रेणी के कोच में अनारक्षित टिकट जारी नहीं किए जाएंगे और कोविड प्रोटोकॉल का पूरी तरह से पालन किया जाएगा।

गाड़ियों में पूर्ववत् खानपान की व्यवस्था, चादर तकिया कंबल देने, किराए में पुरानी रियायतें बहाल करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि अभी कोविड का प्रोटोकॉल लागू रहेगा और फिलहाल इसमें कोई परिवर्तन नहीं होगा।

उल्लेखनीय है कि कोविड महामारी के कारण 20 मार्च 2020 को रेल यात्री सेवाएं बंद कर दी गई थीं। बाद में कई माह बाद विशेष नंबर से न्यूनतम संख्या में गाड़ियों को विशेष शर्तों के साथ शुरू किया गया था। धीरे-धीरे इन शर्तों में महामारी की स्थिति में बदलाव के साथ ढील दी गई और अब गाड़ियों से विशेष नंबर हटाने एवं सामान्य किराया बहाल करने का निर्णय लिया गया।



और भी पढ़ें :