प्रहलाद जोशी का बड़ा हमला, निलंबित कांग्रेस सांसदों ने गांधी प्रतिमा के पास की चिकन पार्टी

Last Updated: शुक्रवार, 29 जुलाई 2022 (18:43 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। संसदीय कार्यमंत्री प्रहलाद जोशी ने शुक्रवार को संसद से निलंबित कांग्रेस सांसदों पर धरने के दौरान गांधी प्रतिमा के पास चिकन पार्टी करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि गांधी प्रतिमा के पास धरने पर बैठे सांसद महान विभूतियों का अपमान कर रहे हैं।

प्रहलाद जोशी ने कहा कि खबर आ रही है कि अहिंसा के साधक गांधी जी की प्रतिमा के नीचे कांग्रेस के नेता धरना के नाम पर बैठकर चिकन खा रहे हैं। जनता के मुद्दों पर चर्चा तो दूर देश की महान विभूतियों का अपमान करना कांग्रेस की आदत बन गया हैं।


उन्होंने कहा कि गांधीजी की मूर्ति के सामने बैठकर मुर्गे की दावत कर रहे उन सांसदों से मैं यह पूछता हूं कि उन्हें यहां किस लिए भेजा गया है? क्या उन्हें यहां 'चर्चा' (बहस) के लिए होना चाहिए, या चिकन खाने के लिए?
उल्लेखनीय है कि संसद के दोनों सदनों में 24 सांसदों के निलंबन के विरोध में विपक्षी दल संसद परिसर में बुधवार से धरने पर बैठे हैं। विरोध-प्रदर्शन में सांसद बारी-बारी हिस्सा ले रहे हैं। इस बीच गुरुवार को तीन और सांसदों को निलंबित कर दिया गया था।

प्रहलाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस नेता अधिरंजन के माननीय द्रौपदी मुर्मू जी के लिए अपमानजनक बयान पर माफी मांगना तो दूर कांग्रेस के नेता बयान का समर्थन करते दिख रहे हैं, स्वयं सोनिया गांधी जी को इस मुद्दे पर सामने आकर माफी मांगनी चाहिए।
Koo App
Now everybody knows the egoistic and adamant behaviour of Congress. You can see how they are disrupting the functioning of the house. They made insulting remarks about the President, the constitutional head of the nation, and are not even ready to apologize. कांग्रेस का आज अहंकार सबके सामने है। किस प्रकार ये लोग सदन की कार्यवाही में बाधा डाल रहे हैं। यहां तक कि भारत के सबसे बड़े संवैधानिक पद पर आसीन महामहिम राष्ट्रपति जी के बारे में अपमान जनक भाषा का इस्तेमाल करते हैं। फिर माफी भी नहीं मांगते। - Pralhad Joshi (@joshipralhad) 29 July 2022
सोनिया राहुल से ईडी की पूछताछ, महंगाई और अधीर रंजन चौधरी के राष्‍ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को कहे गए राष्‍ट्रपत्नी शब्द पर बवाल की वजह से इस सत्र में संसद में एक दिन भी सदन की कार्यवाही नहीं हो पाई है।



और भी पढ़ें :