गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Odisha Train Accident : congress president Kharge writes letter to PM Modi
Written By
Last Updated : सोमवार, 5 जून 2023 (13:01 IST)

कांग्रेस अध्यक्ष खरगे का पीएम मोदी को पत्र, जताई रेल यात्रियों की सुरक्षा की चिंता

Odisha Train Accident : कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर कहा रेलवे की कमजोर पड़ती सुरक्षा यात्रियों के बीच चिंता का विषय बन गई है। उन्होंने कहा कि पीएम से रेलवे में सुधार की मांग करते हुए कहा कि केवल खबरो - Odisha Train Accident : congress president Kharge writes letter to PM Modi
Odisha Train Accident : कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर कहा रेलवे की कमजोर पड़ती सुरक्षा यात्रियों के बीच चिंता का विषय बन गई है। उन्होंने कहा कि पीएम से रेलवे में सुधार की मांग करते हुए कहा कि केवल खबरों में दिख रही चमकती रेलवे, रेल मंत्री के सुरक्षा संबंधी सभी खोखले दावे बेनकाब हुए।
 
खरगे ने कहा कि सरकार की यह जिम्मेदारी बनती है कि वह हादसे के वास्तविक कारणों का पता लगाए। उन्होंने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण कदम सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए रेल मार्गों पर अनिवार्य सुरक्षा मानकों, उपकरणों की स्थापना को प्राथमिकता देना है।
 
पत्र में उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे में इस समय करीब 3 लाख पद खाली पड़े हैं। अकेले ईस्ट कोस्ट रेलवे में जहां यह दुखद दुर्घटना हुई, उसी के लगभग 8278 पद रिक्त हैं। खुद रेलवे बोर्ड ने हाल ही में माना है कि मैनपावर की कमी के कारण लोको पायलटों को अनिवार्य घंटों से ज्यादा घंटे काम करना पड़ा रहा है।
 
खरगे ने कहा कि इसी साल 8 फरवरी को दक्षिण पश्चिम क्षेत्रीय रेलवे के प्रधान मुख्य परिचालन प्रबंधक ने मैसूर में 2 ट्रेनों की टक्कर का हवाला देते हुए सिग्नलिंग प्रणाली को दुरुस्त करने की आवश्यकता पर जोर दिया था। उन्होंने भविष्य में होने वाली संभावित दुर्घटनाओं के बारे में भी आगाह किया था। रेल मंत्रालय ने चेतावनी की अनदेखी क्यों की?
 
कांग्रेस अध्‍यक्ष ने सवाल किया कि केवल 4 प्रतिशत ट्रेनों में ही ट्रेन-टक्कर रोधी प्रणाली कवच का उपयोग क्यों किया गया।
Edited by : Nrapendra Gupta 
ये भी पढ़ें
विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष: विकास की अंधी दौड़ और प्रकृति का विनाश