शुक्रवार, 12 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. NEET Paper leak case investigation
Last Updated : सोमवार, 17 जून 2024 (13:42 IST)

NEET के 7 माफियाओं की पुलिस को तलाश, पेपर लीक में 11 परीक्षार्थियों से पूछताछ करेगा EOU

NEET के 7 माफियाओं की पुलिस को तलाश, पेपर लीक में 11 परीक्षार्थियों से पूछताछ करेगा EOU - NEET Paper leak case investigation
NEET Paper leak case : नीट पेपर लीक मामले ने हजारों छात्रों के भविष्‍य को खतरे में डाल दिया है। परीक्षा के पेपर लीक को लेकर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। शिक्षा मंत्री ने भी माना है कि कहीं कोई गड़बड़ी हुई है। अब नीट के 7 माफियाओं को पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है। इसके साथ ही इस मामले में 11 परीक्षार्थियों से 18 और 19 जून को पूछताछ होगी। बता दें कि अब यह मामला बढ़ता ही जा रहा है।

बता दें कि ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पेपर लीक मामले मे जेल भेजे गए कुल जालसाजो में दानापुर नगर परिषद का निलंबित जेई सिकंदर यादवेंदु, गया का नीतीश कुमार और मुंगेर का अमित आनंद प्रमुख है। तीनों का संबंध परीक्षा माफिया संजीव मुखिया से है।

परीक्षार्थियों को EOU दफ्तर बुलाया : नीट पेपर लीक मामले में 11 परीक्षार्थियों को 18 और 19 जून को पूछताछ के लिए EOU दफ्तर बुलाया गया है। परीक्षार्थी बिहार के अलावा यूपी और महाराष्ट्र के हैं। इस सभी परीक्षार्थियों के रोल कोड मिलने के बाद उनके बारे मे NTA से जानकारी मांगी गई थी। पेपर लीक मामले मे जेल भेजे गए कुल जालसाजों में दानापुर नगर परिषद का निलंबित जेई सिकंदर यादवेंदु, गया का नीतीश कुमार और मुंगेर का अमित आनंद प्रमुख है। तीनों का संबंध परीक्षा माफिया संजीव मुखिया से है। पुलिस को अभी संजीव मुखिया की तलाश है।
NEET
7 परीक्षा माफियाओं की तलाश : नीट पेपर लीक मामले में कार्रवाई के दौरान पुलिस ने जले हुए प्रश्नपत्र बरामद किए थे। इससे 74 प्रश्नों की सूची बनाई गई, जिसमें एक बुकलेट नंबर 6136488 भी बरामद हुआ है। इन प्रश्नों का मिलान कराने के लिए ईओयू को नीट यूजी के मूल प्रश्नपत्र की आवश्यकता है। इंओयू ने इसको लेकर 21 मई को ही एनटीए के डीजी को पत्र लिखा था। लेकिन अभी तक एनटीए ने प्रश्नपत्र नहीं उपलब्ध कराया है। अब ईओयू रिमाइंडर भेजेगी। 5 मई को नीट यूजी की परीक्षा के दौरान पुलिस ने 13 आरोपियों को गिरफ्तार किया था, जिनमें छह परीक्षा माफिया है। अभी सात परीक्षा माफियाओं- गिरोह के सरगना संजीव मुखिया, हिलसा के रॉकी उर्फ राकेश रंजन, हिलसा के पिंटू, करायपरसुराय के चिंटू उर्फ बलदेव, दीदारगंज के आशुतोष, नीतीश यादव और नीतीश पटेल की तलाश है।

सिकंदर : सिकंदर 2012 मे जूनियर इंजीनियर बना था। सिकंदर 2016 मे रोहतास नगर परिषद में हुए 2.92 करोड़ के एलईडी घोटाले का मुख्य आरोपी और चार्जशीटेड है। उस समय रोहतास के SP मानवजीत सिंह ढिल्लों थे, जो अभी EOU मे DIG हैं। इससे पहले सिकंदर रांची में ठेकेदार था। 2016 में वह रोहतास में सिचाई विभाग में जेई था और वहां की नगर परिषद के जेई के अतिरिक्त प्रभार में था। इसी दौरान इसने घोटाला किया और जेल गया। अभी सिकंदर पटना के दानापुर नगर परिषद मे JE है। सिकंदर मूल रूप से समस्तीपुर का रहने वाला है। पटना में रूपसपुर इलाके में रहता है। ईओयू उसके पुराने रिकार्ड को खंगाल रही है। समस्तीपुर और पटना पुलिस से भी उसके बारे में जानकारी मांगी गई है। सिकंदर के परिवार मे पत्नी के अलावा एक बेटा और एक बेटी है, बेटा बीएससी एग्रीकल्चर कर रहा है जबकि बेटी डॉ है। सिकंदर ने बेटी की शादी भी एक डॉ से की है जो यूपी के एक मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस करने के बाद फिलहाल पीजी कर रहा है।
students protest on NEET
नीतीश कुमार : नीतीश कुमार गया का रहने वाला है और पटना में गोपालपुर इलाके में रहता है। नीतीश और उसकी पत्नी 15 मार्च को बिहार मे हुई शिक्षक भर्ती परीक्षा के परीक्षार्थी थे। दोनों को ईओयू की टीम ने 15 मार्च की सुबह झारखण्ड के हजारीबाग स्थित कोहिनूर बैंक्वेट हॉल से गिरफ्तार किया था। नीतीश की शादी नालंदा में हुई है। इसी कारण वह नालंदा के संजीव मुखिया के संपर्क में आया। जेल से छूटने के बाद वह संजीव मुखिया के गिरोह में शामिल हो गया और नीट यूजी प्रश्नपत्र लीक कराते हुए गिरफ्तार हुआ।

अमित आनंद : अमित आनंद मूलरूप से मुंगेर जिले के कोतवाली थानांतर्गत मंगल बाजार गुमटी नंबर दो इलाके का निवासी है। वह पटना के शास्त्री नगर थाना क्षेत्र की एजी कालोनी में स्थित कुलदीप बीमा आदित्य अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 202 में किराये पर रह रहा था।
Edited By Navin Rangiyal
ये भी पढ़ें
दिल्ली जलसंकट को लेकर आप भाजपा आमने सामने, BJP ने किया शहर भर में प्रदर्शन