Bulli Bai App Case : असम से गिरफ्तार मुख्य षड्यंत्रकारी भोपाल में कर रहा था पढ़ाई

Last Updated: गुरुवार, 6 जनवरी 2022 (19:12 IST)
हमें फॉलो करें
गुवाहाटी। ने 'बुली बाई' मामले में द्वारा साझा की गई सूचना के आधार पर चौथे आरोपी का पता बुधवार शाम को लगाया और उसे जोरहाट से किया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।
असम पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि नीरज बिश्नोई (21), नीलामी के लिए मुस्लिम महिलाओं की जानकारी एक ऐप पर डालने के मामले में मुख्य षड्यंत्रकारी है और उसे बृहस्पतिवार को सुबह गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा, इस मामले में दिल्ली पुलिस हमारे साथ सहयोग कर रही है। उनकी टीम यहां बुधवार सुबह पहुंची और शाम तक हमने आरोपी का पता लगा लिया था।

उन्होंने कहा, अभियान 12 घंटे में ही समाप्त हो गया। अधिकारी ने कहा कि मामले की जांच में शामिल मुंबई पुलिस ने आरोपी के संबंध में पुलिस से संपर्क नहीं किया। पुलिस ने बताया कि बिश्नोई जोरहाट का निवासी है, जो भोपाल में पढ़ाई कर रहा है और उसने ही गिटहब पर ऐप बनाया और उसका ट्विटर खाता चलाता था।

दिल्ली पुलिस की ‘इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रेटेजिक ऑपरेशन’ इकाई ने बिश्नोई को गिरफ्तार किया। उन्होंने कहा कि आगे की जांच के लिए आरोपी को जोरहाट से दिल्ली ले जाया गया है। इस मामले में मुंबई पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है।

बुली बाई नामक मोबाइल ऐप पर नीलामी के लिए सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं के चित्र और विवरण बिना अनुमति लिए डाले गए थे और उनसे छेड़छाड़ की गई थी। पिछले साल सुल्ली डील्स नामक इसी तरह का एक ऐप सामने आया था।(भाषा)



और भी पढ़ें :