मध्यप्रदेश में भी लव जिहाद पर कानून बनाने की तैयारी

Last Updated: सोमवार, 2 नवंबर 2020 (12:16 IST)
भोपाल। उत्तरप्रदेश और हरियाणा के बाद अब के मुख्‍यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने उपचुनाव से एक दिन पहले कहा है कि वे भी पर कानून बनाने के लिए विचार कर रहे हैं।

सीएम शिवराज ने एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में यह बात कही है। उन्होंने कहा कि शिवराज ने कहा कि मध्यप्रदेश में लव जिहाद बर्दाश्त नहीं किया जाएगा न ही कट्‍टरवाद को पनपने दिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस संबंध में सबसे पहले कानून बनाने की बात कही थी। इसके बाद हरियाणा सरकार ने भी उनकी बात का समर्थन करते हुए इस दिशा में आगे बढ़ने की बात कही थी।
साधु-संतों ने किया समर्थन : उत्तरप्रदेश में लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बयान का साधु-संतों की संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने समर्थन किया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि अब समय आ गया है कि लव जिहादियों 'राम नाम सत्य' हो जाना चाहिए और उन्हें ऐसा दंड मिलना चाहिए कि उनकी आने वाली पीढ़ियां भी उसे याद रखें।
महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि लव जिहाद के विषय को बेहद गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि यह अपराध की श्रेणी में आता है। संत समाज के साथ ही साथ पूरा हिन्दू समाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग करता है कि लव जिहाद को रोकने के लिए जल्द कठोर कानून बने और हिन्दू बहन-बेटियों का जीवन बर्बाद होने से बचाया जा सके।
हरियाणा में कानून की तैयारी : हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने रविवार को कहा था कि राज्य सरकार लव जिहाद के खिलाफ कानून लाने पर विचार कर रही है। विज ने एक ट्वीट में कहा कि हरियाणा में लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने पर विचार किया जा रहा है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि इस पर कानून बनाने के लिए विशेषज्ञो से सलाह ले रहे हैं।
सीएम योगी ने दी थी चेतावनी : उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बिहार में चुनावी रैली में कहा था कि वे ‘लव जिहाद’ को सख्‍ती से रोकने के लिए प्रभावी कानून बनाएंगे। उन्‍होंने चेतावनी दी थी कि जो लोग बहू-बेटियों की इज्‍जत से खिलवाड़ करते हैं, वे अगर सुधरे नहीं तो ‘राम नाम सत्‍य है’ की उनकी अंतिम यात्रा निकलने वाली है।



और भी पढ़ें :