जम्मू कश्मीर में मां की बेटे से भावुक अपील, आतंक की राह पर न चलना

जम्मू| सुरेश डुग्गर| Last Updated: बुधवार, 9 जनवरी 2019 (00:13 IST)
जम्मू। कश्मीर के पुलवामा में सेना के पर हमला करने वाले आतंकियों में से सेना ने एक को मार गिराया है जबकि दूसरी ओर उमराह से लौटे और गुम हो जाने वाले अपने बेटे से एक कश्मीरी मां ने अपील की है कि वह आतंक की राह पर न चले और घर वापस लौट आए।
पुलवामा में मंगलवार को सेना के गश्ती दल पर आतंकवादियों ने हमला कर दिया। हमले के बाद ये आतंकवादी इलाके में छिप गए और बाद में सेना की कार्रवाई में एक आतंकवादी मारा गया। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और अभी तलाशी अभियान जारी है। इस बीच हमले को देखते हुए इलाके में इंटरनेट सेवाओं को सस्पेंड कर दिया गया है।

बताया जा रहा है कि आतंकवादियों ने गश्त पर निकले सुरक्षा बलों के एक दल पर हमला कर दिया। दोनों ओर से गोलीबारी के बाद आतंकवादी इलाके में छिप गए। सुरक्षा बलों ने हमलावरों को पकड़ने के लिए इलाके में तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। इससे पहले के पुलवामा जिले में ही शनिवार को आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ हो गई थी।
गौरतलब है कि गुरुवार को भी सेना ने मुठभेड़ में तीन आतंकियों को मार गिराया था। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा है कि सुरक्षा बलों को पुलवामा के अरिपल गांव में आंतकवादियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। उसके आधार पर शनिवार सुबह घेराबंदी और खोज अभियान चलाया गया। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों की ओर से गोलीबारी किए जाने के बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

दूसरी ओर श्रीनगर के नाटीपोरा से एक युवक लापता हो गया है। युवक की पहचान दानिश हनीफ के रूप में हुई है और वह बी कॉम थर्ड ईयर का छात्र है। जानकारी के अनुसार दानिश 30 दिसंबर को उमराह हज करके लौटा था और तभी से लापता है। उसकी मां ने उससे भावुक अपील की है कि वह घर लौट आए।
इस बात की जानकारी नहीं है कि दानिश ने आतंकी खेमा ज्वाइन किया है या नहीं। पुलिस हर तरह से मामले की जांच कर रही है। गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से नाबालिग और छात्र ज्यादा बंदूक की तरफ आकर्षित हुए हैं। हाल ही में कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान दो नाबालिग आतंकी मारे गए थे।

 

और भी पढ़ें :