कांग्रेस में शामिल होने के बाद बोले कन्हैया कुमार, देश को बचाने के लिए कांग्रेस को बचाना जरूरी

Last Updated: मंगलवार, 28 सितम्बर 2021 (19:32 IST)
नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष ने मंगलवार को में होने के बाद कहा कि गंभीर खतरे से गुजर रहा है और इसलिए देश को बचाने के लिए 'सबसे लोकतांत्रिक पार्टी कांग्रेस' को बचाना जरूरी है। इस बीच कन्हैया कुमार के साथ आज मंगलवार को ही कांग्रेस के मंच को साझा कर रहे गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी ने स्पष्ट किया कि वे कांग्रेस के विचारधारा में शामिल हो चुके हैं लेकिन वे अभी तकनीकी रूप से इस पुरानी पार्टी के साथ विधिवत नहीं जुड़े हैं।
ALSO READ:

कन्हैया और जिग्नेश ने थामा कांग्रेस का हाथ

जिग्नेश मेवानी ने कहा कि मैं तकनीकी रूप से पार्टी में अभी विधिवत शामिल नहीं हुआ हूं लेकिन हम कांग्रेस के विचार के साथ जुड़ चुके हैं। उन्होंने कहा कि एक नया आंदोलन छिड़ने वाला है, सभी को साथ आना होगा, तभी देश बचेगा। साथ में मिलकर लड़ेंगे, देश को बचाएंगे। पूरे देश में जाएंगे और लोगों को जोड़ेंगे। कन्हैया कुमार ने यहां पार्टी मुख्यालय पर कहा कि भारत की चिंतन परंपरा और सोच को आगे बढ़ाने का काम कांग्रेस ने किया है और आज ये चीजें खतरे में हैं, इसलिए इन्हें बचाने के लिए वे कांग्रेस में शामिल हुए हैं। यह देश गांधी, नेहरू, भगत सिंह, अम्बेडकर, मौलाना आजाद, ज्योतिबा फूले का है जिसे बचाना हम सबकी जिम्मेदारी है।


उन्होंने कांग्रेस को एक बड़ा जहाज करार देते हुए कहा कि अगर इसे नहीं बचाया गया तो छोटी-छोटी कश्ती नहीं बच पाएंगी। देश में वैचारिक संघर्ष छिड़ा है, उसका नेतृत्व कांग्रेस ही कर सकती है, कांग्रेस बचेगी तो लाखों-करोड़ों युवाओं की आकांक्षा बचेगी। वैचारिक संकीर्णता तोड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि देश आज 1947 से पहले के दौर में पहुंच चुका है। देश हम सबका है इसलिए इसे बचाने की हम सब की जिम्मेदारी है।


राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच के संयोजक जिग्नेश मेवानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जो कहानी गुजरात से शुरू हुई है, वह पिछले 6-7 साल में जो उत्पात मचा है, वह सबके सामने हैं। वर्तमान में संविधान खतरे में है। कुछ भी करके संविधान को बचाना है, इसके लिए हम उसके साथ खड़े हैं जिसने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी। आइडिया ऑफ इंडिया को बचाना है।(वार्ता)



और भी पढ़ें :