यमुना में जहरीले झाग, छठ पूजा को लेकर आप और भाजपा आमने-सामने

पुनः संशोधित सोमवार, 8 नवंबर 2021 (23:11 IST)
नई दिल्ली। छठ पूजा के मौके पर सोमवार को यमुना में जहरीले झाग के बीच श्रद्धालुओं के पूजा करने की तस्वीरें और वीडियो सामने आने के बाद दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) और भाजपा में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया।

भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि सरकार ने नदी की 'दयनीय' स्थिति को छुपाने के लिए यमुना तट पर छठ पूजा की अनुमति नहीं दी, जबकि आप के गोपाल राय और राघव चड्ढा ने नदी में झाग के लिए उत्तर प्रदेश और हरियाणा की सरकारों को दोषी ठहराया।

विशेषज्ञों के मुताबिक, दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश से छोड़े जाने वाले सीवर के अशोधित पानी में फॉस्फेट और सर्फेक्टेंट की उपस्थिति नदी में झाग का एक प्रमुख कारण है।
आप नेता और दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने दावा किया कि हरियाणा और उत्तर प्रदेश नजफगढ़ और शाहदरा नालों के माध्यम से नदी में एक दिन में लगभग 155 मिलियन गैलन अशोधित अपशिष्ट जल छोड़ रहे हैं।
उन्होंने कहा कि इसके अलावा, उत्तर प्रदेश के मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली और सहारनपुर में कागज और चीनी उद्योग भी इंदिरा कुंज के पास ओखला बैराज में हिंडन नहर के माध्यम से यमुना में अशोधित अपशिष्ट जल छोड़ते हैं।
उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार दिल्ली नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के संशोधित मानकों को पूरा करने के लिए अपने सीवेज शोधन संयंत्रों को अपग्रेड करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश और हरियाणा को नदी को साफ रखने में अपना योगदान देना चाहिए।
भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने झाग से ढकी यमुना में नाव की सवारी की। उन्होंने आरोप लगाया कि आप सरकार ने यमुना के तट पर छठ पूजा की अनुमति नहीं दी क्योंकि वह उच्च प्रदूषण के कारण नदी में झाग को छुपाना चाहती थी।

उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 2013 से कह रहे हैं कि उनकी सरकार यमुना को 5 साल में नहाने लायक बना देगी। आज दिल्ली की हवा और पानी दोनों जहरीले हैं। उन्होंने यमुना पर छठ उत्सव नहीं होने दिया ताकि कोई देख नहीं सके कि नदी कितनी जहरीली हो गई है।
इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने नदी में जहरीले झाग के लिए भाजपा नीत हरियाणा सरकार को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि यहां भगवा पार्टी के नेताओं को पड़ोसी राज्य से जवाब मांगना चाहिए।
उन्होंने कहा कि झाग के बारे में मनोज तिवारी को हरियाणा की भाजपा सरकार से पूछना चाहिए। दिल्ली यमुना में जहरीला पानी नहीं छोड़ती है बल्कि हरियाणा छोड़ता है।




और भी पढ़ें :