वायुसेना और होगी मजबूत, 56 परिवहन विमान की खरीद को मिली मंजूरी

Last Updated: बुधवार, 8 सितम्बर 2021 (22:39 IST)
नई दिल्ली। सुरक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति ने बुधवार को एक अहम फैसले में भारतीय वायुसेना के पुराने एवरो बेड़े को हटाने के लिए 56 सी-295 विमानों की खरीद को मंजूरी दे दी। मंत्रालय के अनुसार इस परियोजना से भारत में एयरोस्पेस क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा और देशभर में फैले कई एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम) विमान के कुछ हिस्सों के निर्माण में शामिल होंगे।
रक्षा मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार 16 विमान एयरबस डिफेंस एंड स्पेस से खरीदे जाएंगे जो उड़ान भरने की स्थिति में होंगे। इसके अलावा 40 विमान कंपनी द्वारा भारत में टाटा के साथ एक समूह (कंसोर्टियम) के हिस्से के तहत बनाए जाएंगे।

रक्षा मंत्रालय ने कहा, आज सुरक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति ने भारतीय वायुसेना के लिए एयरबस डिफेंस एंड स्पेस एसए, स्पेन से 56 सी-295एमडब्ल्यू परिवहन विमानों की खरीद के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। सी-295एमडब्ल्यू विमान नई तकनीक के साथ 5 से 10 टन क्षमता वाला है जो वायुसेना के पुराने पड़ गए एवरो विमान की जगह लेगा।
ALSO READ:

भारतीय वायुसेना की बढ़ेगी ताकत, इंसास की जगह लेगी रूसी AK-103 राइफल
मंत्रालय ने कहा, करार पर हस्ताक्षर करने के 48 महीनों के भीतर स्पेन से 16 विमानों की उड़ान भरने की स्थिति में आपूर्ति की जाएगी, जबकि 40 विमानों का निर्माण करार पर हस्ताक्षर के 10 वर्षों के भीतर टाटा कंसोर्टियम द्वारा भारत में किया जाएगा। मंत्रालय ने कहा, यह अपनी तरह की पहली परियोजना होगी जिसमें एक निजी कंपनी द्वारा भारत में किसी सैन्य विमान का निर्माण किया जाएगा...।
मंत्रालय के अनुसार इस परियोजना से भारत में एयरोस्पेस क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा और देशभर में फैले कई एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम) विमान के कुछ हिस्सों के निर्माण में शामिल होंगे। उम्मीद है कि इससे उच्च कौशल वाले 600 रोजगार, 3000 से अधिक अप्रत्यक्ष रोजगार और मध्यम कौशल के अतिरिक्त 3000 रोजगार सृजित होंगे तथा 42.5 लाख से अधिक कार्य घंटे पैदा होंगे।(भाषा)



और भी पढ़ें :