कश्मीर में महिलाओं ने लहराए पाकिस्तानी झंडे

श्रीनगर। अलगाववादी नेता और की प्रमुख आसिया अंद्राबी ने एक बार फिर से पाकिस्तान के प्रति अपना प्रेम उजागर करते हुए देश विरोधी गतिविधियों को अंजाम दिया है। आसिया ने अपने समर्थकों के साथ कश्मीर के किसी हिस्से में पाकिस्तान दिवस मनाया है। इस दौरान उसने एक बार फिर से कश्मीर में पाकिस्तान का झंडा भी फहराया है, जिसकी तस्वीरें बहुत तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हुई हैं।

अलगाववादी नेता आसिया अक्सर घाटी में पाकिस्तान दिवस पर जश्न मनाती है और भारत विरोधी भाषण भी देती है। आसिया अंद्राबी ने शुक्रवार को कहा कि सिर्फ पाकिस्तान में रहने वाले ही नहीं, कश्मीर समेत पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में रहने वाले मुस्लिम पाकिस्तानी हैं। यहां कोई मुस्लिम भारतीय या बांग्लादेशी नहीं है।

आसिया ने

यह भड़काऊ बयान डाऊन-टाऊन में किसी अज्ञात जगह पर पाकिस्तान दिवस समारोह में उपस्थित दुख्तरान कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिया। गौरतलब है कि 23 मार्च को पाकिस्तान दिवस मनाया जाता है। इसी दिन 1940 में लाहौर में आयोजित मुस्लिम लीग के अधिवेशन में पाकिस्तान के गठन का प्रस्ताव पास हुआ था।

आसिया ने कहा कि इस्लाम, इमान, कुरान और पैगबंर हजरत मोहम्मद साहब के प्रति आस्था, प्रेम और वफादारी के आधार पर इस पूरे उपमहाद्वीप में रहने वाला हर मुस्लिम पाकिस्तानी है। समारोह में पाकिस्तानी ध्वज भी लहराए गए और पाकिस्तान का कौमी तराना भी गाया गया। दुख्तरान-ए मिल्लत की अध्यक्ष ने अपने संबोधन में लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता के सिद्धांत का पक्ष लेने वालों को भी लताड़ा और कहा कि यह सब इस्लाम के उसूलों के खिलाफ है। इनकी वकालत करने वाला इस्लाम का दुश्मन है।

आसिया ने कश्मीर समस्या के समाधान के लिए कश्मीर के पाकिस्तान में विलय को ही एकमात्र विकल्‍प बताते हुए कहा द्वि-राष्ट्रीय सिद्धांत के आधार पर कश्मीर को पाकिस्तान का ही हिस्सा होना चाहिए। उसने कश्मीर में शरिया की बहाली पर जोर देते हुए कहा कि यहां जिहाद जरुरी है।

गौरतलब है कि कश्मीर के अलगाववादी नेताओं का पाकिस्तान के प्रति प्रेम किसी से छुपा नहीं है। कश्मीर की आजादी का राग अलापने वाली अलगाववादी अंद्राबी ने एक बार फिर से पाकिस्तानपरस्ती का सबूत दिया है। शुक्रवार को आसिया ने पाक का झंडा फहराकर कश्मीर की आजादी की मांग करते हुए कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया। उसने कहा कि कश्मीर पाक का है, लेकिन भारत फिर भी उसे अपना बनाने की कोशिश कर रहा है।

इस्लाम का हवाला देते हुए आसिया ने कहा कि हमारे लिए लोग या तो मुस्लिम हैं या फिर काफिर। मुस्लिम देश केवल पाकिस्तान है। पाकिस्तान का गठन राष्ट्रीयता के आधार पर नहीं, बल्कि इस्लाम की नींव के आधार पर हुआ है। देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण आसिया को कई बार नजरबंद भी किया जा चुका है। उसका ये पाकिस्तान के प्रति प्रेम नया नहीं है।

आसिया पिछले साल घाटी में पाकिस्तान का झंडा लहराते हुए पाकिस्तान का राष्ट्रगान भी गा चुकी है। उस पर कई मुकादमे भी दर्ज हैं। इसके साथ उसे हिरासत में भी लिया जा चुका है। बता दें कि अंद्राबी दुखतरान-ए-मिल्लत नामक संस्था की चीफ है। ये संगठन कश्मीर का पाक में विलय की बात करता है।



और भी पढ़ें :