गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. 9371 crore assets of Vijay Mallya, Nirav Modi, Mehul Choksi transferred to public sector banks
Written By
Last Updated : बुधवार, 23 जून 2021 (13:01 IST)

विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी की 9371 करोड़ की संपत्ति सरकारी बैंकों को ट्रांसफर

विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी की 9371 करोड़ की संपत्ति सरकारी बैंकों को ट्रांसफर - 9371 crore assets of Vijay Mallya, Nirav Modi, Mehul Choksi transferred to public sector banks
भारत में बैंकिंग घोटालों के मामलों में सरकारी एक्शन का असर अब दिखने लगा है। विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी पर सरकार की चौकसी का असर यह हुआ है कि सरकारी बैंकों को करीब 9371 करोड़ रुपए की संपत्ति ट्रांसफर हो गए हैं। ईडी के मुताबिक, भगोड़े आरोपी विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी की 9371 करोड़ रुपए की संपत्ति सरकारी बैंकों को ट्रांसफर कर दी गई है।

 
एक बयान में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कहा कि, पीएमएलए के तहत विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के मामले में न केवल 18,170.02 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की, बल्कि 9371.17 करोड़ रुपए की कुर्की / जब्त संपत्ति का एक हिस्सा भी पीएसबी और केंद्र सरकार को ट्रांसफर कर दिया गया है।

 
ईडी ने कहा कि विजय माल्या और पीएनबी बैंक धोखाधड़ी मामलों में बैंकों की 40  फीसदी राशि पीएमएलए के तहत जब्त किए गए शेयरों की बिक्री के जरिए वसूली गई।

 
जानकारी के लिए बता दें कि मेहुल चोकसी और उसके भतीजे नीरव मोदी पर कुछ बैंक अधिकारियों की मिलीभगत से पीएनबी के साथ कथित तौर पर 13,500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने का आरोप है। नीरव मोदी अभी लंदन की एक जेल में बंद है, जबकि मेहुल चोकसी डोमिनिका की जेल में बंद है। दोनों के खिलाफ केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) जांच कर रहा है और उसे भारत प्रत्यर्पित करने की कोशिश जारी है।

 
विजय माल्या की बात करें तो उसके ऊपर 9 000 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप दर्ज है। इस मामले में उसकी बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस शामिल है। किंगफिशर एयरलाइंस के पूर्व मालिक विजय माल्या अप्रैल 2019 में अपनी गिरफ्तारी के बाद से प्रत्यर्पण वारंट पर ब्रिटेन में जमानत पर है। फिलहाल माल्या इंग्लैंड में है, जहां से उन्हें वापस लाने के लिए लगातार प्रयास जारी है।
ये भी पढ़ें
Moody's ने 2021 के लिए भारत की वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 9.6 प्रतिशत किया