आधार की 10 जरूरी बातें जो आपके लिए जानना बहुत जरूरी हैं...

Last Updated: शनिवार, 22 जून 2019 (13:45 IST)
आधार द्वारा निर्धारित सत्यापन प्रक्रिया को पूरा करने के बाद भारत के सभी निवासियों को जारी की जाने वाली 12 अंकों की एक रैंडम संख्‍या है। किसी भी आयु का कोई भी व्यक्ति जो भारत का निवासी है, बिना किसी लिंग भेद के अपना बनवा सकता है।
आधार कार्ड बनवाने के लिए व्यक्ति को नामांकन प्रक्रिया के दौरान न्‍यूनतम जनसांख्यिकीय और बायोमेट्रिक सूचना उपलब्‍ध करवानी होती है। एक व्यक्ति एक ही बार आधार के लिए नामांकन करवा सकता है। आधार कार्ड को बैंक अकाउंट, पैन कार्ड, मोबाइल नंबर आदि से लिंक करवाना अनिवार्य हो गया है। आइए जानते हैं आधार से जुड़ी 10 जरूरी बातें...

1. भारतीय नागरिकों के लिए Aadhaar Card पहचान का एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। इसमें नाम, पते और अन्य चीजों के अतिरिक्त व्यक्ति की बायोमैट्रिक जानकारी भी रहती है।
2. सुरक्षा के कारणों से अगर आप अपना आधार नंबर शेयर नहीं करना चाहते हैं, तो आधार की नियामक संस्था (UIDAI) आपको एक और विकल्प देती है। ये विकल्प है वर्चुअल आईडी (VID) के प्रयोग का। वीआईडी आधार नंबर से जुड़ा हुआ 16 अंकों का अस्थायी नंबर है। ई-केवाईसी (e-KYC) के दौरान वीआईडी का प्रयोग पहचान के सत्यापन के लिए किया जा सकता है।
3. आपका आधार आपके मोबाइल नंबर से लिंक होना चाहिए। आधार कार्ड में मोबाइल नंबर जोड़ने से आपको इसके अपडेट की सूचनाएं भी इस पर मिलती रहेंगी। जिस टेलीकॉम कंपनी का सिम आपके पास है, उसके आउटलेट पर जाकर आप आधार को सिम नंबर से लिंक करवा सकते हैं।
4. अगर आपका Aadhaar Card गुम हो गया है और आपका मोबाइल नंबर उससे नहीं जुड़ा है तो या बदल गया है तो uidai की वेबसाइट पर 'ऑर्डर आधार रीप्रिंट' सेवा का लाभ उठा सकते हैं। आधार रीप्रिंट करने के लिए आपको 50 रुपए का भुगतान करना होगा। जरूरी फॉर्मलिटी पूरी करने के बाद यह कार्ड आपके घर पहुंच जाएगा।
5. आधार में आपका सही पता होना जरूरी है। घर बदलने या अन्य किसी कारण से अगर आप Aadhaar में पता बदलवाना चाहते हैं। तो आपके पास वैध पते का प्रमाण या पते का वैधीकरण (जिनके पास पते का वैध प्रमाण नहीं है) होना चाहिए। आप अगर किराए के घर में रहते हैं तो मकान मालिक का कोई दस्तावेज प्रस्तुत कर आधार में पते को बदलवा सकते हैं।



और भी पढ़ें :