प्रौढ़ प्रतिनिधि ही जनता की पहली पसंद

भोपाल (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 15 दिसंबर 2008 (17:48 IST)
मध्यप्रदेश की नवगठित तेरहवीं विधानसभा में इस बार युवाओं का अभाव और प्रौढ़ सदस्यों की बहुतायत होगी, क्योंकि जनता ने युवाओं की अपेक्षा सर्वाधिक भरोसा प्रौढ़ प्रत्याशियों पर जताया है।

आधिकारिक आँकड़ों के अनुसार विधानसभा के 230 सदस्यों में से इस बार अधिकांश पुरुष सदस्य 45 से 54 वर्ष आयु वर्ग के हैं, जिनमें पुरुषों की संख्या 78 और महिला सदस्यों की संख्या दस है। 35 से 44 वर्ष आयु वर्ग के 61 पुरुष और 11 महिला सदस्य हैं।

सदन में 55 से 74 वर्ष आयु वर्ग में 48 पुरुष एवं दो महिला सदस्य हैं, जबकि 75 साल आयु के केवल तीन पुरुष एवं एक महिला सदस्य है। जनता ने इस बार सबसे कम भरोसा युवाओं पर जताया है, क्योंकि 25 से 34 आयु वर्ग के 15 पुरुष एवं केवल एक महिला सदस्य है।




और भी पढ़ें :