कैबिनेट को लेकर नहीं खोले शिवराज ने पत्ते

इंदौर (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 13 दिसंबर 2008 (17:25 IST)
मध्यप्रदेश की नवगठित के मुखिया ने शनिवार को पार्टी के चुनावी घोषणा-पत्र के मुताबिक स्वर्णिम मध्यप्रदेश गढ़ने का संकल्प दोहाराया, लेकिन मंत्रिमंडल गठन के सवाल को टालते हुए कहा कि यह राज की बात है।

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के अगले दिन चौहान इंदौर में मीडिया से मुखातिब थे। उन्होंने भरोसा दिलाया कि देश के हृदय प्रदेश में लगातार दूसरी बार सत्तारूढ़ भाजपा वह सारे वादे पूरे करेगी, जो उसने विधानसभा चुनाव के दौरान जनता से किए थे।

चौहान ने कहा भाजपा के चुनावी घोषणा-पत्र पर अमल की प्रक्रिया आज से शुरू हो जाएगी। हमने स्वर्णिम मध्यप्रदेश के निर्माण का प्रण लिया है। इसे हर हाल में पूरा करने की कोशिश की जाएगी।
उन्होंने कहा भाजपा सरकार कानून व्यवस्था ढाँचागत संरचना विकास महिला सशक्तीकरण कृषि स्वास्थ्य और शिक्षा समेत सभी क्षेत्रों में जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करेगी।

प्रदेश की सत्ता में भाजपा की हालिया वापसी के बाद 12 दिसंबर को अकेले शपथ लेने वाले मुख्यमंत्री ने हालाँकि मंत्रिमंडल गठन पर फिलहाल पत्ते नहीं खोले। इस सवाल को लेकर प्रदेश के सियासी हलकों में सरगर्मियाँ बढ़ी हुई हैं।
उन्होंने अपने मंत्रिमंडल के गठन और इसमें शामिल होने वाले संभावित चेहरों के सवाल पर रहस्यमय मुस्कुराहट के साथ कहा यह राज की बात है।

एक सवाल के जवाब में चौहान ने बताया प्रदेश के सभी सरकारी विभागों को सौ दिन का लक्ष्य प्रदान किया जाएगा। उन्होंने जोर देकर कहा लक्ष्य पूरा करने की दिशा में कोताही हर्गिज बर्दाश्त नहीं की जाएगी।




और भी पढ़ें :