गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. चुनाव 2024
  2. लोकसभा चुनाव 2024
  3. लोकसभा चुनाव समाचार
  4. Supriya Sule takes blessings from Ajit Pawar's mother in Baramati
Last Updated : मंगलवार, 7 मई 2024 (16:30 IST)

सुप्रिया सुले ने बारामती में अजित पवार की मां से आशीर्वाद लिया

पवार परिवार के 2 सदस्य एक-दूसरे के खिलाफ

सुप्रिया सुले ने बारामती में अजित पवार की मां से आशीर्वाद लिया - Supriya Sule takes blessings from Ajit Pawar's mother in Baramati
Lok Sabha Election 2024 : महाराष्ट्र के पुणे जिले की बारामती लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहीं सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने वोट डालने के बाद मंगलवार को उपमुख्यमंत्री अजीत पवार (Ajit Pawar) के घर जाकर उनकी मां से मुलाकात की और आशीर्वाद लिया। पवार परिवार के गृह क्षेत्र बारामती (Baramati) से चौथी बार चुनाव लड़ रहीं सुले का मुकाबला उनके चचेरे भाई अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार से है। इस सीट पर मतदान मंगलवार सुबह 7 बजे से जारी है।

 
पवार परिवार के 2 सदस्य एक-दूसरे के खिलाफ : यह पहली बार है कि प्रभावशाली पवार परिवार के 2 सदस्य एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं। सुनेत्रा पवार का यह पहला लोकसभा चुनाव है। उप मुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता देवेन्द्र फडणवीस ने सुले की अजित पवार की मां से मुलाकात को भावनात्मक रणनीति करार दिया।

 
अजित पवार की मां आशाताई पवार से मुलाकात की : सुले अपने मताधिकार का प्रयोग करने के बाद बारामती के काटेवाडी स्थित अजित पवार के आवास पर पहुंचीं और उनकी मां आशाताई पवार से मुलाकात की। मुलाकात के बाद पत्रकारों से सुले ने कहा कि वे अपनी चाची आशा काकी से मिलने और उनका आशीर्वाद लेने आई थीं।
 
क्या बोले उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस? : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरदचंद्र पवार) नेता ने कहा कि यह मेरी काकी का घर है और मैं यहां उनसे मिलने तथा उनका आशीर्वाद लेने आई हूं। इसी बीच मुंबई में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि सुले का अजीत पवार के घर जाना एक भावनात्मक रणनीति है। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि आखिरकार वे राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी हैं, कोई दुश्मन नहीं। वे (सुले) उनकी (अजित पवार की) बहन हैं। देखते हैं यह भावनात्मक रणनीति कैसे काम आती है?(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
मोदी ने 22 लोगों को अरबपति बनाया, हम करोड़ों को लखपति बनाएंगे