साध्वी प्रज्ञा का यू-टर्न, मैंने दिग्विजय को नहीं कहा आतंकी

विशेष प्रतिनिधि| पुनः संशोधित शुक्रवार, 26 अप्रैल 2019 (14:19 IST)
भोपाल। चुनाव आयोग के सख्त तेवर के बाद एक बार फिर भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने अपने बयान से यू-टर्न ले लिया है। सीहोर में अपने चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजयसिंह को बिना नाम लिए आतंकी बताने पर चुनाव आयोग के कड़े रुख के बाद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने कभी दिग्विजयसिंह को आतंकी नहीं कहा।
मीडिया ने जब साध्वी प्रज्ञा ठाकुर से उनके सीहोर में आतंकी वाले बयान पर सवाल किया तो साध्वी ने साफ कहा कि मैंने नहीं बोला। इसके बाद साध्वी मीडिया के सवालों का जवाब दिए बिना आगे बढ़ गईं।

क्या है पूरा मामला : गुरुवार को सीहोर में चुनाव प्रचार करने पहुंची साध्वी प्रज्ञा ने कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजयसिंह को इशारों ही इशारों में आंतकी बता दिया था। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि ऐसे आतंकी का समापन करने के लिए, बेरोजगारी को बढ़ावा देने वाले लोगों का समापन करने के लिए फिर एक संन्यासी को खड़ा होना पड़ा है।

इसके बाद प्रज्ञा ठाकुर ने बिना नाम लिए को 2003 का चुनाव याद दिलाते हुए कहा कि सोलह साल पहले उमा दीदी ने हराया था। उसके बाद राजनीति नहीं कर पाए, इस बार फिर मैदान में हैं तो उन्हें हराने के लिए एक संन्यासी को मैदान में आना पड़ा। इस बार ऐसी हार होगी कि उग नहीं पाएंगे। साध्वी के इस विवादित बयान के बाद उनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं। चुनाव आयोग ने सीहोर कलेक्टर से पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी है।

 

और भी पढ़ें :