प्रज्ञा ठाकुर का विवादित बयान, आतंकी के समापन के लिए संन्यासी को आना पड़ा

विशेष प्रतिनिधि|
से भाजपा उम्मीदवार के विवादित बयानों को सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। सीहोर में चुनाव प्रचार करने पहुंची साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजयसिंह को इशारों ही इशारों में आंतकी बता डाला।
साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसे आतंकी का समापन करने के लिए, बेरोजगारी को बढ़ावा देने वाले लोगों का समापन करने के लिए फिर एक संन्यासी को खड़ा होना पड़ा है। इसके बाद प्रज्ञा ठाकुर ने दिग्विजय को 2003 का चुनाव याद दिलाते हुए कहा कि सोलह साल पहले उमा दीदी ने हराया था, उसके बाद राजनीति नहीं कर पाए।

इस बार फिर मैदान में है तो उन्हें हराने के लिए एक संन्यासी को मैदान में आना पड़ा इस बार ऐसी हार होगी कि उग नहीं पाएंगे। ऐसा नहीं है कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने पहली बार दिग्विजय को टारगेट कर बयान दिया है। इससे पहले भी वो अपने भाषण में दिग्विजय को निशाना बनाती रही है।
ऐसे में जब साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के आयोध्या में विवादित ढांचे को लेकर दिए बयान पर उनके खिलाफ पहले ही आचार संहिता उल्लंघन को लेकर एफआईआर दर्ज हो चुकी है तब ऐसे बयान आने वाले वक्त में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की मुश्किलें और बढ़ा सकते हैं।

 

और भी पढ़ें :