राहुल गांधी को यकीन, ‘न्याय’ अर्थव्यवस्था में नई जान डालेगा, रोजगार के अवसर पैदा होंगे

Last Updated: शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019 (21:46 IST)
बाजीपुरा (गुजरात)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि उनकी पार्टी की 'न्यूनतम आय योजना' (न्याय) अर्थव्यवस्था में नई जान डालने में मदद करेगी और देश में रोजगार के अवसर पैदा करेगी, जो नोटबंदी और जीएसटी की मार झेल रही है।
राहुल ने यहां एक चुनाव रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए 'चोर है' तंज कसा। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी ने लड़ाकू विमान सौदे में कारोबारी अनिल अंबानी को 30,000 करोड़ रुपए दिए।
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हमने 'न्यूनतम आय योजना' (न्याय) के तहत गरीबों को 72,000 रुपए देने का वादा किया, जो देश में गरीबों की आर्थिक हालत को बदलकर रख देगा। 'न्याय' लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस घोषणापत्र की एक मुख्य विशेषता है और यह योजना पार्टी में विचार-विमर्श के बाद तैयार की गई। मोदी ने 2014 में लोगों को 15 लाख रुपए देने का झूठा वादा किया था लेकिन कांग्रेस 3.60 लाख रुपए (5 साल में कुल अनुमानित रकम) जरूर देगी।
कांग्रेस अध्यक्ष ने 2016 के नोटबंदी के कदम का मजाक उड़ाते हुए कहा कि एक दिन नरेन्द्र मोदी ने यह घोषणा की कि 1,000 और 500 के (पुराने) नोट चलन से बाहर कर दिए गए हैं, क्योंकि वे मुझे ज्यादा कालाधन बनाने में मदद नहीं कर रहे हैं इसलिए मैं 2,000 रुपए के नोट लाऊंगा, क्योंकि उसके जरिए हम और अधिक कालाधन जमा कर सकेंगे।

राहुल ने जीएसटी लागू करने को लेकर मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि उसने 'गब्बर सिंह टैक्स' (जीएसटी) पेश किया। ये दोनों (नोटबंदी और जीएसटी) कदम देश के लिए जोरदार झटका थे। नोटबंदी के बाद नकदी की तंगी के चलते आम आदमी ने सामान खरीदना बंद कर दिया जिसके चलते वस्तुओं का उत्पादन करने वाली भारतीय कंपनियां बंद हो गईं। इसके चलते अभी देश में बेरोजगारी की दर 45 साल के अपने उच्चतम स्तर पर है।
उन्होंने कहा कि हालांकि हमारी न्याय (योजना) अर्थव्यवस्था में नई जान डालेगी और रोजगार के अधिक अवसर पैदा करेगी। न्याय के तहत लोगों के पास जाने वाला पैसा गरीबों को वस्तुएं खरीदने में मदद करेगा जिससे कंपनियां फिर से चालू हो जाएंगी और लोगों को नौकरियां मिलेंगी।

राहुल ने कहा कि मोदी सरकार सिर्फ कुछ धनी उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है। क्या आम आदमी को चौकीदार की जरूरत है? चौकीदार की जरूरत किसानों के घर के आगे नहीं होती है। यह अनिल अंबानी का चौकीदार है। उन्होंने फ्रांस के साथ हुए राफेल सौदे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि चौकीदार ने अंबानी को 30,000 करोड़ रुपए दिए। चौकीदार चोर है। हालांकि अनिल अंबानी, राहुल के आरोपों को खारिज करते रहे हैं।
राहुल ने यह भी आरोप लगाया कि नई फसल बीमा योजना के तहत सरकार ने जिलों और राज्यों को कुछ धनी उद्योगपतियों को दे दिया है। मोदी ने समूचा कश्मीर अनिल अंबानी को दे दिया। यदि कांग्रेस पार्टी केंद्र में सत्ता में आई तो कर्ज नहीं चुका पाने पर कोई किसान जेल नहीं जाएगा। कांग्रेस ने सत्ता में आने पर कर्नाटक, मध्यप्रदेश, पंजाब, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में किसानों के कर्ज माफ किए।

कांग्रेस अध्यक्ष ने यहां बारडोली जिले में एक चुनाव सभा को संबोधित करते हुए यह कहा। यहां से कांग्रेस के उम्मीदवार तुषार चौधरी हैं। गौरतलब है कि गुजरात में सभी 26 सीटों पर एक ही चरण में 23 अप्रैल को मतदान होना है।

 

और भी पढ़ें :