10 धनी उम्मीदवारों में सिर्फ 5 ही जीते, 1107 करोड़ रुपए की संपत्ति वाले को मिले सिर्फ 1556 वोट

Last Updated: शुक्रवार, 24 मई 2019 (22:11 IST)
नई दिल्ली। आम चुनाव 2019 में देश के 10 सर्वाधिक धनी उम्मीदवारों की जीत-पर नजर डालें तो मिश्रित परिणाम देखने को मिला है और उनमें से सिर्फ 5 को ही लोकसभा पहुंचने में कामयाबी मिली है। देश के सबसे को इस चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है।
देश के सबसे धनी 10 उम्मीदवारों की बात करें तो इनमें से 3 आंध्रप्रदेश, 2-2 बिहार एवं मध्यप्रदेश से और 1-1 तमिलनाडु, कर्नाटक और तेलंगाना से थे। अमीर और विजयी प्रत्याशियों में कांग्रेस के नकुल नाथ प्रमुख नाम हैं और पराजित धनी प्रत्याशियों में ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम शामिल है।

देश के सबसे धनी प्रत्याशी बिहार के रमेश कुमार शर्मा यह चुनाव पाटलीपुत्र सीट से निर्दलीय लड़े और अपनी जमानत तक गंवा बैठे। उन्हें केवल 1556 मत ही मिले। चुनाव आयोग के आंकड़ों से यह बात सामने आई है। शर्मा ने नामांकन पत्र दायर करने के दौरान 1,107 करोड़ रुपए की संपत्ति की घोषणा की थी।
देश के दूसरे सबसे दौलतमंद प्रत्याशी कांग्रेस के कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी को भी हार का सामना करना पड़ा। उन्हें तेलंगाना की चेवेल्ला सीट से टीआरएस के जी रंरेड्डी ने 14,317 मतों से हराया।
अपोलो समूह के अध्यक्ष सी. प्रताप रेड्डी के दामाद विश्वेश्वर भी देश के दूसरे सबसे धनी उम्मीदवार थे। उन्होंने 895 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति की घोषणा की थी। वे पिछले साल दिसंबर में टीआरएस छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे।

नकुल नाथ 660 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति के साथ देश के तीसरे सबसे दौलतमंद प्रत्याशी थे और वे छिंदवाड़ा सीट से 37,536 मतों से जीत गए हैं।

कांग्रेस के एच. वसंत कुमार 417 करोड़ रुपए की संपत्ति वाले चौथे सबसे धनी उम्मीदवार थे। उन्होंने 2,59,933 मतों के अंतर से केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन को हरा दिया।
ज्योतिरादित्य सिंधिया 374 करोड़ रुपए की संपत्ति के साथ देश के 5वें सबसे अधिक धनी प्रत्याशी थे। उन्हें भाजपा के कृष्णपाल सिंह ने 1,25,549 के विशाल अंतर से हराया।
6ठे नंबर के सबसे धनी उम्मीदवार वीरा पोटलूरी वाईएसआर कांग्रेस के टिकट पर विजयवाड़ा सीट से चुनाव लड़े, लेकिन 8,726 मतों से तेदेपा उम्मीदवार से हार गए। उन्होंने 347 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की थी।

कांग्रेस के उदय सिंह देश के 7वें सबसे धनी उम्मीदवार थे। वे बिहार की पूर्णिया सीट पर 2,63,461 वोटों से पराजित हुए। उन्होंने 341 करोड़ रुपए की संपत्ति का ऐलान किया था।
देश के 8वें सबसे धनी उम्मीदवार डीके सुरेश कांग्रेस के टिकट पर बेंगलुरु ग्रामीण से 2,06,870 मतों से जीते।

9वें सबसे धनी उम्मीदवार वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के केआरके राजा ने नासापुरम सीट से 31,909 मतों से जीत हासिल की। उन्होंने 325 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की थी।

10वें सबसे संपन्न उम्मीदवार जयदेव गल्ला ने 4,205 मतों से जीत हासिल की। उन्होंने गुंटूर सीट से जीत हासिल की है। उन्होंने 305 करोड़ रुपए की संपत्ति घोषित की।

 

और भी पढ़ें :