नरेन्द्र मोदी की 5 बड़ी बातें, जो लोकसभा चुनाव में बनेंगी एनडीए की ताकत

पुनः संशोधित सोमवार, 11 मार्च 2019 (16:58 IST)
चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा 2019 की तारीखों की घोषणा के साथ ही चुनावी घमासान शुरू हो चुका है। 11 अप्रैल से 19 मई तक वोटिंग होने के बाद 23 मई तारीख को रिजल्ट आ जाएगा कि सत्ता के सिंहासन पर कौन काबिज होगा। भाजपा की नजरें जहां एक बार फिर सत्ता में वापसी पर हैं, वहीं अध्यक्ष राहुल गांधी भी केन्द्र की कुर्सी के लिए पूरी ताकत से जुटे हुए हैं। क्या सत्ता के इस महासमर में नरेन्द्र मोदी एक बार फिर बाजी मारेंगे? आइए जानते हैं वह 5 बड़ी बातें जो मोदी के लिए ताकत साबित होंगी...
1. आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक जंग : भाजपा नीत एनडीए एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लोकसभा में उतरने के लिए तैयार है। 2014 में भाजपा ने नरेन्द्र मोदी के नाम से बड़ी सफलता हासिल की थी। पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान पर की गई एयर स्ट्राइक ने नरेन्द्र मोदी की नेतृत्व क्षमता को और मजबूती दी है। उरी और पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार ने त्वरित फैसला लेकर आतंकवाद के सफाए के लिए सर्जिकल स्ट्राइक की। सरकार के इन कदमों से मोदी की छवि एक दमदार नेता के रूप में उभरी है, जिसका फायदा एनडीए को लोकसभा चुनाव में मिलेगा।
2. अमित शाह का रणनीतिक कौशल : भाजपा अ‍ध्यक्ष अमित शाह की रणनीति और बेहतरीन संगठनात्मक कौशल से भाजपा फिर एक बार कमाल दिखा सकती है। एनडीए से रूठे हुए दलों को मनाने का तरीका अमित शाह बखूबी जानते हैं। अन्नाद्रमुक और रूठी हुई शिवसेना को एक बार फिर एनडीए जोड़ना भाजपा के लिए फायदे का सौदा हो सकता है। राजनीति की बिसात पर विरोधियों को परास्त करने के लिए कौनसी चाल चलनी है, इसमें अमित शाह को माहिर माना जाता है।
3. मोदी पर भरोसा : लोकसभा चुनाव 2014 में भाजपा ने 30 सालों का रिकॉर्ड तोड़ते हुए 282 सीटों पर जीत हासिल की थी। भाजपा नीत एनडीए ने 336 सीटें जीती थीं। इस बार भी भाजपा को उम्मीद है कि वह मोदी के नाम की जादुई छड़ी से लोकसभा में जीत हासिल कर एक बार फिर दिल्ली की सत्ता पर काबिज होगी।

4. सामान्य वर्ग का समर्थन : में एनडीए अपने पांच साल के कार्यकाल का लेखा-जोखा लेकर भी जाएगा। तीन राज्यों से मिली हार से सबक लेते हुए मोदी सरकार ने गरीब सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का 'बह्मास्त्र' चलाया, जिससे नाराज सवर्ण एक बार फिर उसके पाले में आ जाएंगे, जिसका फायदा उसे लोकसभा संग्राम में मिलेगा।

5. जनकल्याणकारी योजनाएं : भाजपा नीत एनडीए सरकार ने आम भारतीय से लेकर किसानों के लिए कई योजनाएं चलाईं। अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुद्रा योजना, उज्ज्वला, पीएम किसान सम्मान निधि, श्रमयोगी मानधन योजना और आयुष्मान जैसी योजनाओं का अपने प्रचार में बखान कर लाभ लेने का प्रयास करेगी। आयुष्मान योजना लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए मास्टर स्ट्रोक साबित हो सकती है।(वेबदुनिया न्यूज डेस्क)


और भी पढ़ें :