तीसरे टी20 मैच में न्यूजीलैंड की टीम जीत की हकदार थी : कोहली

Last Updated: बुधवार, 29 जनवरी 2020 (20:12 IST)
हैमिल्टन। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को यहां तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में सुपर ओवर में जीत के साथ 5 मैचों की श्रृंखला में 3-0 की विजयी बढ़त बनाने के बाद कहा कि न्यूजीलैंड की टीम जीत की हकदार थी।

रोहित शर्मा ने सुपर ओवर की अंतिम 2 गेंदों पर छक्के जड़कर भारत को रोमांच की पराकाष्ठा पर पहुंचे मुकाबले में जीत दिलाई। भारत ने इसके साथ ही न्यूजीलैंड में पहली बार टी20 श्रृंखला जीती।

भारत को जीत के लिए सुपर ओवर में 18 रन की दरकार थी लेकिन पहली चार गेंद में 8 ही रन बने जिसके बाद रोहित ने मिडविकेट और लांग ऑफ के ऊपर से छक्का जड़कर मेहमान टीम को जीत दिला दी।
कोहली ने पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान कहा, ‘एक समय हमें लगा कि हम हार गए। मैंने अपने कोच से कहा कि वे जीत के हकदार थे। केन (विलियमसम) 95 रन के स्कोर पर जिस तरह बल्लेबाजी कर रहा था, उसके लिए बुरा लग रहा है। अंतिम गेंद पर हमने चर्चा की और इस निर्णय पर पहुंचे कि हमें स्टंप पर गेंद मारनी होगी क्योंकि अगर हम ऐसा नहीं करते तो वैसे भी एक रन बन जाता।’

भारत की पारी के स्टार रोहित रहे जिनकी 65 रन की पारी से भारत ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 179 रन बनाए। कोहली ने कहा, ‘रोहित ने हमारी पारी और अंतिम दो गेंद पर शानदार बल्लेबाजी की। हमें पता था कि अगर वह एक शॉट खेल लेगा तो गेंदबाज तुरंत दबाव में आ जाएगा।’

न्यूजीलैंड को अंतिम चार गेंद में जीत के लिए दो रन की दरकार थी जबकि उसके छह विकेट बचे थे लेकिन मोहम्मद शमी ने मेजबान टीम को जीत दर्ज करने से रोक दिया।

शमी ने अंतिम चार गेंद में सिर्फ एक रन दिया और मुकाबले को टाई करा दिया। इसके साथ ही विश्व कप 2019 के फाइनल की याद ताजा हो गई जिसे न्यूजीलैंड ने सुपर ओवर के भी टाई रहने के बाद बाउंड्री गिनने के नियम के कारण गंवा दिया था।

न्यूजीलैंड की ओर से कप्तान विलियमसन ने 48 गेंद में 95 रन की पारी खेलने के अलावा सुपर ओवर में भी 11 रन बनाए लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके। श्रृंखला जीतने के बाद भारतीय कप्तान ने संकेत दिए कि बाकी बचे दो मैचों में बैंच स्ट्रैंथ को आजमाया जा सकता है।

कोहली ने कहा, ‘कुछ अन्य खिलाड़ियों को मैच खेलने का मौका देना भी महत्वपूर्ण है। हम देखना चाहते हैं कि इन हालात में वे कैसा प्रदर्शन करते हैं, वाशिंगटन सुंदर या नवदीप सैनी जैसा खिलाड़ी।’

विलियमसन को मलाल है कि उनकी टीम का सुपर ओवर में रिकॉर्ड अच्छा नहीं है और उन्होंने कहा कि उनकी टीम को नियमित ओवरों में ही मैच खत्म करने का प्रयास करना होगा।

उन्होंने कहा, ‘सुपर ओवर हमारे लिए काफी अच्छे नहीं रहे हैं इसलिए संभवत: हमें नियमित समय में बेहतर प्रदर्शन करने का प्रयास करना होगा।’

विलियमसन ने कहा, ‘कुल मिलाकर हालांकि प्रदर्शन कहीं बेहतर रहा। उनकी अच्छी शुरुआत के बाद हमने गेंदबाजी में वापसी की। दोनों टीमों ने एक तरफ की थोड़ी छोटी बाउंड्री का फायदा उठाया।’

विलियमसन हालांकि अपनी निराशा छिपा नहीं पाए और उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड को अपने भारतीय समकक्षों से सीखना होगा कि मैच के ‘बड़े लम्हों’ को कैसे जीता जाता है।


और भी पढ़ें :