मंकीगैट स्कैंडल मेरी कप्तानी का सबसे खराब क्षण : रिकी पोटिंग

पुनः संशोधित बुधवार, 18 मार्च 2020 (16:03 IST)
मेलबर्न। ऑस्ट्रेलिया के ने 2008 में हुए ‘मंकीगैट’ स्कैंडल को अपनी कप्तानी का सबसे खराब क्षण करार दिया है।
वर्ष 2008 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान सिडनी में हुए दूसरे टेस्ट मैच में भारतीय ऑफ स्पिनर और ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर एंड्रयू सायमंड्स के बीच कहासुनी हो गई थी और कुछ अपशब्दों का प्रयोग भी किया गया था।
इस मामले के कारण दोनों टीमों के बीच टकराव इतना बढ़ गया था कि भारतीय टीम ने दौरा बीच में छोड़ने की बात कही थी। लेकिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ था।

पोंटिंग ने कहा, '2005 में एशेज सीरीज हारना बड़ा झटका था पर मैं उस समय नियंत्रण में था। लेकिन के बाद मैं नियंत्रण खो बैठा था और यह मेरी कप्तानी का सबसे खराब क्षण था। यह विवाद काफी समय तक चला और मुझे याद है कि एडिलेड टेस्ट के दौरान मैंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के अधिकारियों से इस संबंध में बात की क्योंकि इस मैच के बाद मामले की सुनवाई होनी थी।'

उन्होंने कहा, 'मंकीगैट स्कैंडल मामले के बाद टीम में सभी लोग हताश हो गए थे और इसके कारण अगले मुकाबले में इसका टीम के प्रदर्शन पर असर पड़ा था। पर्थ टेस्ट में हम जीत की कगार पर थे लेकिन हमें इस मैच में हार का सामना करना पड़ा और इसके कुछ दिनों बाद हालात बिगड़ते चले गए।'

पोंटिंग की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने दो बार जीता लेकिन उनकी कप्तानी में उसे 2005, 2009 और 2010-11 में हुई एशेज सीरीज में हार का सामना करना पड़ा। पोंटिंग ने कहा, '2005 में सभी को लगा था कि हम को हरा देंगे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।'


और भी पढ़ें :