सोमवार, 15 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Manoj Tiwary question to MS Dhoni after his retirement for dropping him
Written By WD Sports Desk
Last Updated : मंगलवार, 20 फ़रवरी 2024 (15:31 IST)

Manoj Tiwary ने संन्यास लेने के बाद MS Dhoni पर लगाया बड़ा आरोप

मनोज तिवारी ने बंगाल के लिए अपना आखिरी Ranji Trophy मैच खेलने के बाद क्रिकेट से संन्यास लिया

Manoj Tiwary ने संन्यास लेने के बाद MS Dhoni पर लगाया बड़ा आरोप, Manoj Tiwary question to MS Dhoni after his retirement hindi news - Manoj Tiwary question to MS Dhoni after his retirement for dropping him
Manoj Tiwary question to MS Dhoni after his retirement hindi news : MS Dhoni की कप्तानी में बहुत से खिलाड़ी उभर कर निकले जो अभी भी भारतीय टीम का हिस्सा हैं लेकिन कुछ खिलाड़ी लम्बी रेस का घोडा नहीं बन पाए और उनमे से एक है बंगाल के मनोज तिवारी जिनका घरेलू क्रिकेट में कमाल का प्रदर्शन रहा है लेकिन उन्होंने हालही में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) पर अपने इंटरनेशनल क्रिकेट को लेकर कुछ आरोप लगाए हैं।

हाल ही में, मनोज तिवारी ने बंगाल के लिए अपना आखिरी रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) मैच खेलने के बाद क्रिकेट से संन्यास लिया। बंगाल के बल्लेबाज और कप्तान को बिहार के खिलाफ आखिरी मैच में उनकी टीम द्वारा 'गार्ड ऑफ ऑनर' दिया गया था और Bengal Cricket Association (CAB) ने तिवारी को एक अविश्वसनीय विदाई समारोह दिया था। भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) मनोज की विदाई के समय मौजूद थे।

जब उनसे अपने इंटरनेशनल करियर को लेकर सवाल किया गया उन्होंने कहा "मैं एमएस धोनी से यह पूछना चाहता हूं कि साल 2011 में सेंचुरी लगाने के बावजूद मुझे प्लेइंग इलेवन से क्यों ड्रॉप किया गया। मेरे अंदर भी विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसा हीरो बनने की काबिलियत मौजूद थी। आज मैं देख रहा हूं कि कई खिलाड़ियों को मौका दिया जा रहा है, जिसे देखकर मुझे दुख पहुंचता है।"

 

Manoj Tiwary ने कहा कि Test Cricket नहीं खेलना उनके सबसे बड़े अफसोस में से एक है। First Class Cricket में Manoj Tiwary ने 10,195 रन बनाए।  
 
"मुझे भारत के लिए टेस्ट कैप नहीं मिली। जब मैंने 65 प्रथम श्रेणी मैच खेले थे, तब मेरी बल्लेबाजी औसत 65 के आसपास थी। ऑस्ट्रेलिया टीम ने तब भारत का दौरा किया था, और मैंने एक मैच में 130 रन बनाए थे, में इंग्लैंड के खिलाफ मैंने एक मैच में 93 रन। मैं बहुत करीब था, लेकिन उन्होंने युवराज सिंह (Yuvraj Singh) को चुना। इसलिए टेस्ट कैप नहीं मिली और शतक बनाने के बाद मुझे 14 मैचों के लिए बाहर कर दिया गया...जब आत्मविश्वास अपने चरम पर होता है और कोई उसे नष्ट कर देता है , यह उस खिलाड़ी को मार डालता है," 
 
"मेरे दिल में नाम हैं, लेकिन मैं कोई नाम नहीं लेना चाहता। नाम लेना सही बात नहीं होगी। लेकिन BCCI ने जीवन भर मेरी बहुत मदद की है।"
 
Manoj Tiwary का क्रिकेट करियर 
मनोज तिवारी ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू साल 2008 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ किया था। मनोज ने अपने करियर के दौरान खेले कुल 12 वनडे मैचों में 26.09 की औसत से 287 रन बनाए। इसमें एक शतक और एक अर्धशतक शामिल है।
 
मनोज ने टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डेब्यू साल 2011 में किया। जिसमे उन्होंने सिर्फ एक ही पारी खेली। मनोज ने वनडे में अपना आखिरी मुकाबला साल 2015 में जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला, जबकि लास्ट टी-20 इंटरनेशनल मैच उन्होंने साल 2012 में खेला। First Class Cricket में उनके नाम 10,195 रन है।  
ये भी पढ़ें
अनुश अग्रवाल ने घुड़सवारी में भारत के लिए पेरिस ओलंपिक कोटा हासिल किया