आखिरी सत्र में भारत ने की वापसी, रूट को किया सस्ते में आउट, 53 पर गिराए 3 विकेट

Last Updated: शुक्रवार, 3 सितम्बर 2021 (00:11 IST)
पहले दिन का खेल समाप्त होने पर भारत के 191 रन के जवाब में इंग्लैंड ने तीन विकेट 53 रन पर गंवा दिये थे । बुमराह ने दोनों सलामी बल्लेबाजों रोरी बर्न्स (5) और हसीब हमीद (0) को पवेलियन भेजा जब स्कोर बोर्ड पर छह ही रन टंगे थे । बुमराह ने छह ओवर में 15 रन देकर दो विकेट चटकाये ।तेज गेंदबाज की 57 रन की आक्रामक पारी की बदौलत भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथे क्रिकेट टेस्ट मैच के पहले दिन गुरूवार को खराब शुरुआत से उबरते हुए पहली पारी में 191 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया।भारत ने इसके बाद जवाबी प्रहार करते हुए इंग्लैंड के दोनों ओपनरों और उनके फॉर्म में चल रहे कप्तान के विकेट झटककर मैच को संतुलन में ला दिया।

भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने चौथे ओवर में दूसरी गेंद पर रोरी बर्न्स को बोल्ड किया और फिर आखिरी गेंद पर हसीब हमीद को पंत के हाथों कैच करा दिया। मात्र छह रन पर दो विकेट गिर जाने के बाद डेविड मलान और रुट ने तीसरे विकेट के लिए 46 रन जोड़े। यह साझेदारी और ज्यादा खतरनाक हो पाती की इससे पहले उमेश यादव ने रुट को एक बेहतरीन गेंद पर बोल्ड कर दिया। रुट ने 46 गेंदों पर चार चौकों के सहारे 26 रन बनाये। स्टंप्स के समय मलान 21 और नाईट वॉचमैन क्रैग ओवर्टन एक रन बनाकर क्रीज पर थे। लेकिन भारत को सबसे बड़ी सफलता उमेश यादव ने दिलायी जिन्होंने जो रूट को 21 रनों पर आउट कर दिया। भारत के खिलाफ लगातार 3 शतक जड़ चुके नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज का इस सीरीज में यह सबसे कम स्कोर है। इंग्लैंड ने 53 रनों पर 3 विकेट गंवाए है और पहली पारी के आधार पर वह भारत से अभी भी 138 रन पीछे है।

इससे पहले भारत ने सात विकेट 127 रन पर गंवा दिये थे लेकिन अपना चौथा टेस्ट खेल रहे गेंदबाजी हरफनमौला खिलाड़ी ठाकुर ने 36 गेंद में 57 रन बनाकर टीम को 200 के करीब पहुंचाया। उन्होंने उमेश के साथ आठवें विकेट के लिये 63 रन जोड़े।

भारतीय पारी 61.3 ओवर में खत्म हो गई और एक बार फिर नामी गिरामी बल्लेबाजों ने निराश किया । ठाकुर के अलावा कप्तान विराट कोहली ने अर्धशतक जमाया लेकिन इन दोनों को छोड़कर कोई और बल्लेबाज 20 रन के पार नहीं पहुंच सका।

इंग्लैंड के लिये क्रिस वोक्स ने 15 ओवर में 55 रन देकर चार विकेट लिये जबकि ओली रॉबिनसन को तीन विकेट मिल ।

कोहली 96 गेंद में 50 रन बनाकर आउट हुए। नवंबर 2019 में आखिरी टेस्ट शतक लगाने वाले कोहली ने कुछ अच्छे कवर ड्राइव लगाये लेकिन रॉबिनसन की गेंद पर विकेट के पीछे जॉनी बेयरस्टॉ को आसान कैच दे बैठे।
Virat Kohli

इससे पहले वोक्स की गेंद पर जो रूट ने स्लिप में उनका कैच छोड़ा था लेकिन उसका ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। अपनी पारी में आठ अच्छे चौके लगाने के बावजूद कोहली आफ स्टम्प से बाहर जाती गेंद पर अपना विकेट गंवा बैठे। स्पिनरों की मददगार पिच पर अनुभवी आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को टीम से बाहर रखने के लिये आलोचना झेल रहे कोहली पर बड़ी पारी खेलने का भारी दबाव था लेकिन एक बार फिर वह तिहरे अंक तक नहीं पहुंच पाये।

दूसरे सत्र में रविंद्र जडेजा (10) और अजिंक्य रहाणे (14) भी पवेलियन लौटे। बल्लेबाजी क्रम में रहाणे से ऊपर पांचवें नंबर पर आये जडेजा को वोक्स ने रूट के हाथों लपकवाया। वहीं खराब फॉर्म से जूझ रहे रहाणे क्रेग ओवर्टन की गेंद पर तीसरी स्लिप में मोईन अली को कैच देकर लौटे। युवा ऋषभ पंत से समझदारी भरी पारी की उम्मीद थी लेकिन वह भी नौ रन बनाकर संयम खो बैठे। वोक्स ने उनका विकेट लिया।

इसके बाद ठाकुर ने संभलकर खेलते हुए अपनी आक्रामक पारी में सात चौके और तीन छक्के जड़े।इससे पहले वोक्स की वापसी से मजबूत हुए इंग्लैंड के तेज आक्रमण ने एक बार फिर भारतीय बल्लेबाजी के शीर्षक्रम की नींव हिला दी और लंच तक भारत ने तीन विकेट 54 रन पर गंवा दिये।

अच्छी शुरूआत के बाद सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (11) और केएल राहुल (17) तेज गेंदबाजों को अपना विकेट गंवा बैठे । वहीं चेतेश्वर पुजारा (4) को जेम्स एंडरसन ने बेहद खूबसूरत गेंद पर पवेलियन भेजा।इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने आसमान में छाये बादलों को देखते हुए टॉस जीतकर गेंदबाजी का सही फैसला लिया।
england test team

रोहित और राहुल ने 35 मिनट की साझेदारी में 28 रन जोड़े लेकिन वोक्स ने इस साझेदारी को तोड़कर भारत को अच्छी शुरूआत से वंचित कर दिया। वोक्स ने पांच ओवर में चार रन देकर एक विकेट लिया।

अतिरिक्त उछाल के साथ एक फुललैंग्थ गेंद पर रोहित ने विकेटकीपर बेयरस्टॉ को कैच थमाया।तीन चौके लगा चुके राहुल को रॉबिनसन ने शॉर्टपिच गेंद पर पवेलियन भेजा। वह 44 गेंद में 17 रन बनाकर पगबाधा आउट हुए। मैदानी अंपायर के आउट देने पर रिव्यू लिया गया लेकिन टीवी अंपायर ने उनका फैसला बरकरार रखा।



और भी पढ़ें :