एंडरसन बोले, रोटेशन नीति की व्यापक तस्वीर पर ध्यान देने की जरूरत

Last Updated: सोमवार, 22 फ़रवरी 2021 (12:57 IST)
अहमदाबाद। अनुभवी तेज गेंदबाज ने इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की रोटेशन नीति के आलोचकों से टीम के व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए इसकी व्यापक तस्वीर पर गौर करने का आग्रह किया है। इंग्लैंड ने रोटेशन नीति के चलते जॉनी बेयरस्टॉ और मार्क वुड को भारत के खिलाफ पहले 2 टेस्ट मैचों से बाहर रखा और अब आखिरी 2 टेस्ट मैचों के लिए उनकी वापसी हुई है। विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर पहले टेस्ट मैच के बाद जबकि ऑलराउंडर मोईन अली दूसरे मैच के बाद स्वदेश लौट गए।
ALSO READ:
अहमदाबद में विश्व का सबसे बड़ा क्रिकेट ग्राउंड भारत- इंग्लैंड मुकाबले के लिए सजा (फोटो)
एंडरसन ने 'गॉर्डियन' समाचार पत्र से कहा कि आपको व्यापक तस्वीर पर गौर करना चाहिए। इसके पीछे विचार यह था कि अगर मैं उस टेस्ट (दूसरे मैच) में नहीं खेल पाया तो इससे मुझे गुलाबी गेंद से होने वाले टेस्ट के लिए अधिक फिट होकर मैदान पर उतरने का मौका मिलेगा।
केविन पीटरसन सहित कई पूर्व खिलाड़ियों ने ईसीबी की नीति की आलोचना की और कहा कि उसे भारत के खिलाफ इस बड़ी श्रृंखला में अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी उतारने चाहिए। एंडरसन श्रृंखला के पहले मैच में खेले और उन्होंने 5 विकेट लेकर इंग्लैंड की जीत में अहम भूमिका निभाई। दूसरे मैच में उन्हें विश्राम दिया गया था जिसे भारत ने 317 रन से जीता।
एंडरसन ने कहा कि मैं अच्छा और तरोताजा महसूस कर रहा हूं और मौका मिलने पर फिर से खेलने के लिए तैयार हूं। यह एक हद तक निराश करने वाला है लेकिन हमें जितनी अधिक क्रिकेट खेलनी है उसे में रखते हुए मैं बड़ी तस्वीर पर गौर कर सकता हूं। यह केवल मेरे लिए नहीं, सभी गेंदबाजों के लिए समान है। हमें इस साल 17 टेस्ट मैच खेलने हैं और इनके लिए अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को फिट और तरोताजा रखने का सर्वश्रेष्ठ तरीका यही है कि उन्हें बीच बीच में थोड़ा विश्राम दिया जाए। (भाषा)



और भी पढ़ें :