200 अरब डॉलर से अधिक के बाजार पूंजीकरण वाली देश की पहली कंपनी बनी रिलायंस इंडस्ट्रीज

पुनः संशोधित गुरुवार, 10 सितम्बर 2020 (18:05 IST)
मुंबई। एशिया के सबसे अमीर मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की लिमिटेड (RIL) ने गुरुवार को देश के कंपनी जगत में इतिहास का नया अध्याय लिखा और 200 अरब डॉलर से अधिक वाली पहली कंपनी बनने का श्रेय हासिल किया।

देश के शेयर बाजारों में जोरदार बढ़त के साथ ही आरआईएल के शेयर ने ऊंची छंलाग लगाई और एनएसई में कारोबार के दौरान कल की तुलना में साढ़े 8 प्रतिशत बढ़कर अर्थात 2394.95 रुपए के रिकॉर्ड स्तर तक पहुंचा और कंपनी का बाजार पूंजीकरण 210 अरब डालर को छू गया।

यही नहीं, रिलायंस के राईट इश्यू के तहत आंशिक भुगतान वाले शेयर पर तेजी के कारण से 10 प्रतिशत का अपर सर्किट लगाना पड़ा। यह कारोबार में ऊंचे में 1393.7 रुपये तक चढ़ा।
mukesh ambani
रिलायंस के शेयर और आंशिक भुगतान वाले राईट इश्यू के शेयरों को जोड़ दिया जाए तो बाजार पूंजीकरण 15.45 लाख करोड़ रुपए हो गया और 73.33 रुपए की विनिमय दर पर कंपनी का बाजार पूंजीकरण 210 अरब डॉलर पर पहुंच गया। इस प्रकार रिलायंस 200 अरब डॉलर के बाजार पूंजीकरण वाली देश की पहली कंपनी बन गई।
कर्जमुक्त हो चुकी रिलायंस तीन दशक में पहली बार 1257 रुपए की कीमत पर राईट इश्यू लाई थी और इस राशि का भुगतान 3 किश्तों में किया जाना है। पहली किश्त के रुप में 314.25 रुपए का भुगतान किया गया है। राइट इश्यू 4 जून को बंद हुआ था और मात्र तीन माह में आंशिक भुगतान वाला शेयर 4.4 गुना की छंलाग लगा चुका है। आंशिक भुगतान वाला शेयर 15 जून को सूचीबद्ध हुआ था।

रिलायंस ने 150 अरब डॉलर के बाजार पूंजीकरण का आंकड़ा इसी वर्ष 19 जून को छुआ था और 60 से कम कार्यदिवसों में रोजाना औसतन एक अरब डॉलर अर्थात 7300 करोड़ रुपए का इजाफा बाजार पूंजीकरण में हुआ।
रिलायंस के 633.9 करोड़ पूर्ण चुकता शेयर और 42.26 करोड़ आंशिक भुगतान वाले शेयर हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :