WGC का अनुमान, भारत में सोने की मांग 18 प्रतिशत घटकर 135.5 टन रही

Gold
Last Updated: गुरुवार, 28 अप्रैल 2022 (12:35 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। (डब्ल्यूजीसी) के अनुसार वर्ष 2022 की पहली तिमाही में भारत में 18 प्रतिशत घटकर 135.5 टन रह गई। डब्ल्यूजीसी ने कहा कि मुख्य रूप से कीमतों में तेज वृद्धि के कारण मांग घटी। वर्ष 2021 के पहले 3 महीनों में सोने की मांग 165.8 टन थी।

सोने की मांग पर डब्ल्यूजीसी द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया कि के लिहाज से जनवरी-मार्च में सोने की मांग 12 फीसदी घटकर 61,550 करोड़ रुपए रह गई। 1 साल पहले की इसी अवधि में यह आंकड़ा 69,720 करोड़ रुपए था। डब्ल्यूजीसी के क्षेत्रीय सीईओ (भारत) सोमसुंदरम पीआर ने बताया कि जनवरी में सोने की कीमतें बढ़ने लगीं और कीमती धातु इस साल की पहली तिमाही में 8 प्रतिशत बढ़कर 45,434 रुपए प्रति 10 ग्राम (करों के बिना) के स्तर पर पहुंच गई।
रिपोर्ट के अनुसार समीक्षाधीन तिमाही के दौरान देश में आभूषणों की कुल मांग 26 प्रतिशत गिरकर 94.2 टन रह गई, जो पिछले साल की इसी अवधि में 126.5 टन थी। इस दौरान मूल्य के लिहाज से आभूषणों की मांग में 20 प्रतिशत की कमी हुई। डब्ल्यूजीसी की रिपोर्ट में कहा गया कि मार्च तिमाही में सोने की वैश्विक मांग 34 प्रतिशत बढ़कर 1,234 टन हो गई। भू-राजनीतिक और आर्थिक अनिश्चितता के बीच निवेशकों ने की ओर रुख किया। वर्ष 2021 की पहली तिमाही के दौरान वैश्विक स्तर पर सोने की मांग 919.1 टन थी।



और भी पढ़ें :