IPL में पहली बार चेन्नई 10 मैच हारी, कप्तान और कोच ने यह दिया बयान

Last Updated: शनिवार, 21 मई 2022 (15:10 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई: राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र के अपने आखिरी मैच को पांच विकेट से गंवाने के बाद के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने कहा कि उनके बल्लेबाजों ने 10 से15 रन कम बनाये।राजस्थान ने जीत के लिए मिले 151 रन के लक्ष्य को दो गेंद शेष रहते हासिल कर लिया।

यह पहला मौका है जब चेन्नई सुपर किंग्स ने कुल 10 मैच किसी आईपीएल सत्र में हारे हो। इससे पहले साल 2020 और साल 2012 में टीम ने 8 मैच गंवाए थे।
चेन्नई के लिए 19 गेंद में अर्धशतक पूरा करने वाले मोईन अली ने 57 गेंद की पारी में 93 रन बनाये।धोनी ने मैच के बाद पुरस्कार समारोह में कहा, ‘‘ बीच के ओवरों में जल्दी-जल्दी विकेट गंवाने का खामियाजा टीम को भुगतना पड़ा। इसके बाद मोईन को धीमी बल्लेबाजी करनी पड़ी। हमारे बल्लेबाजों ने 10
से 15 रन कम बनाये। ’’

सत्र में टीम के निराशाजनक अभियान के बाद भी धोनी ने इस बात पर खुशी जताई की टीम के युवा खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन में काफी सुधार किया।उन्होंने कहा, ‘‘ हमारे कई खिलाड़ियों ने काफी सुधार किया है।
मुकेश (चौधरी) अपने पहले मैच के मुकाबले आखिरी मैच में काफी अलग थे।

हमने जिन खिलाड़ियों को भी प्रयोग किया, उन्होंने काफी कुछ सीखा है। हमारे मलिंगा(पथिराना) ने भी बढ़िया गेंदबाजी की है। अगले साल वह बढ़िया प्रदर्शन करेंगे।’’

चेन्नई करीबी मैचों में जीतने के लिये अच्छा नहीं कर सकी: फ्लेमिंग

चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग को लगता है कि उनकी टीम इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के इस सत्र में करीबी मैचों में जीत दर्ज करने के लिये अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी।

आईपीएल की सबसे सफल टीमों में से एक चार बार की चैम्पियन सीएसके का अभियान नौंवे स्थान पर समाप्त हुआ जिसमें टीम 14 मैचों में महज चार जीत ही दर्ज कर सकी। फ्लेमिंग ने शुक्रवार को राजस्थान रॉयल्स से सीएसके को मिली पांच विकेट की हार के बाद कहा, ‘‘हमारे कई मैच ऐसे रहे जो करीबी थे लेकिन हम उनमें जीत दर्ज करने के लिये अच्छा नहीं कर सके। ’’
Stephen Fleming

उन्होंने कहा, ‘‘इस सत्र में ऐसा ही रहा जिससे हम क्वालीफाई नहीं कर सके। ’’उन्होंने साथ ही कहा कि टीम पिछले सत्र की तरह नहीं खेल सकी जिसमें कई नये खिलाड़ी भी थे।फ्लेमिंग ने कहा, ‘‘जब आप नये चक्र की शुरूआत करते हो तो आपके पास कई नये खिलाड़ी होते हैं और यह परीक्षा लेने वाला हो सकता है। ’’उन्होंने कहा, ‘‘हम पिछले चार वर्षों के प्रदर्शन को जारी नहीं रख सके जो सचमुच चुनौती थी। ’’

फ्लेमिंग को हालांकि लगता है कि इस सत्र का प्रदर्शन लीग के अगले चरण के लिये खिलाड़ियों के लिये उत्प्रेरक की तरह काम करेगा।उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास फॉर्म में चल रहे कुछ खिलाड़ी नहीं थे जो हमें जीत दिला सकें और लय बनाये रखें। हमारे पास बेहतर करने का मौका था लेकिन सच्चाई यही है कि हम सेमीफाइनल के लिये क्वालीफाई नहीं कर सके और यह अगले साल के लिये उत्प्रेरक का काम करेगा।’



और भी पढ़ें :