इन 3 खिलाड़ियों की वजह से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को मिली करिश्माई जीत

Last Updated: गुरुवार, 15 अप्रैल 2021 (00:49 IST)
दो लगातार मैच और दोनों की ही समान पटकथा, एक टीम टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला करती है और सामने वाली टीम को 150 रनों के आस पास रोक देती है। लक्ष्य का पीछा करने वाली टीम 1 विकेट खोकर 10 ओवर से पहले आधे से ज्यादा रन बना लेती है लेकिन फिर बल्लेबाज तू चल में आया की तर्ज पर पवैलियन की राह पकड़ लेते हैं।

मंगलवार को एक चमत्कारिक जीत मुंबई इंडियन्स को मिली थी बुधवार को ऐसा ही के साथ हो गया। दोनों ही कप्तानों ने अपने अपने तरह से इस मैच को अपनी ओर खींचा। जहां रोहित ने फील्डर्स को आगे लाकर दबाव बनाया था वहीं विराट कोहली ने अचानक से एक बाएं हाथ के स्पिनर को गेंद थमा दी।

कप्तानी से पहले इन तीन खिलाड़ियों को इस जीत का श्रेय मिलना चाहिए क्योंकि इन तीन खिलाड़ियों के कारण ही रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को बुधवार को एक करिश्माई जीत हासिल हुई है।
हर्षल पटेल-
रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को पहला मैच जितवाने वाले ने आज भी कमाल की गेंदबाजी की। उन्होंने अपने 4 ओवर के कोटे में 25 रन देकर 2 विकेट निकाले, टी-20 मैच के लिहाज से एक बार फिर पटेल ने किफायती गेंदबाजी की।

पहले मैच की तरह आज भी उनकी शुरुआत अच्छी नहीं हुई थी लेकिन बड़ा गेंदबाज वह होता है जो वापसी करे और हर्षल ने वापसी की। पहली गेंद पर चौका देने के बाद उन्होंने लाइन में सुधार किया। उन्होंनें अपना पहला विकेट विजय शंकर के रूप में लिया।

अंतिम ओवर हर्षल को करना था और हैदराबाद को 16 रनों की दरकार थी। इस ओवर में हर्षल से गलती से गेंद फिसल गई और राशिद ने उस पर चौका जड़ा। अंपायर ने इसे नॉ बोल भी करार दी। लेकिन हर्षल ने यहां भी वापसी की। उन्होंने शाहबाज नदीम का विकेट लिया।
2 मैचों में 7 विकेट लेने के बाद अब हर्षल के पास पर्पल कैप भी आ गई है।
शाहबाज अहमद-
दूसरे टाइम आउट से पहले ऐसा लग रहा था कि सनराइजर्स हैदराबाद के लिए यह मैच बिछा हुआ है बस औपचारिकता पूरी करनी है। क्रीज पर थे जॉनी बेरेस्टो और सेट बल्लेबाज मनीष पांडे। 17वें ओवर में जो चमत्कार इस गेंदबाज ने किया वह काफी समय तक बैंगलोर के फैंस याद रखेंगे।

पहली गेंद पर बेरेस्टो के बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर हवा में चली गई जिसे एबी ने दौड़कर लपका। इसकी अगली ही गेंद पर 38 रन बना चुके मनीष पांडे के बल्ले का गेंद ने बाहरी किनारा लिया और विकेट के पीछे हर्षल ने कैच पकड़ा। बैंगलोर ने इन दोनों गेंद से पासा पलट दिया था।

इसके बाद शाहबाज ने अब्दुल समद को भी इस ही ओवर में फ्लाइट में चकमा देकर खुद ही उनको कैच आउट कर दिया। यह ओवर मैच का टर्निंग प्वाइंट रहा। अगर शाहबाज की ओर गेंद कोहली नहीं उछालते तो शायद नतीजा कुछ और भी हो सकता था।
ग्लेन मैक्सवेल-
5 साल और 40 पारियों बाद आज ने आईपीएल में अर्धशतकीय पारी खेली। धीमी पिच पर आज ग्लेन मैक्सवेल ने दूसरे छोर पर खड़े होकर विकटों का पतन देखा लेकिन खुद का धैर्य नहीं खोया। वह गेंद को हिट करते रहे और उन्होंने आईपीएल का सातवां अर्धशतक बनाया।

जेसन होल्डर के अंतिम ओवर में जो उन्होंने रन बटोरे वह अंत में चलकर काफी निर्णायक साबित हुए। होल्डर के इस ओवर में मैक्सवेल ने एक चौका और एक छक्का लगाया। इस ओवर में कुल 13 रन आए और अंत में बैंगलोर 6 रनों से मैच जीती। मैक्सवेल ने 41 गेंद में 59 रन जड़े जिसमें 5 चौके और 3 छक्के शामिल थे। उनकी इस पारी की बदौलत बैंगलोर 149 के आंकड़े तक पहुंच सकी।

अपनी इस पारी के लिए ग्लेन मैक्सवेल को मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार मिला। इस सीजन मैन ऑफ द मैच पाने वाले वह पहले विदेशी खिलाड़ी बने। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :