शनिवार, 23 सितम्बर 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. अंतरराष्ट्रीय
  4. Outrage in America over the death of Indian student
Written By
पुनः संशोधित: वॉशिंगटन/सिएटल , शुक्रवार, 15 सितम्बर 2023 (01:16 IST)

भारतीय छात्रा की मौत पर अमेरिका में आक्रोश, बाइडन प्रशासन ने दिया तुरंत कार्रवाई का आश्वासन

Outrage in America over the death of Indian student : अमेरिका में राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन ने भारत सरकार को सिएटल में एक पुलिस गश्ती कार की चपेट में आने से भारतीय छात्रा जाह्नवी कंडुला की मौत की त्वरित जांच करने और जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों को न्याय के कठघरे में लाने का आश्वासन दिया है।
 
अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू द्वारा इस मुद्दे को वॉशिंगटन में उच्चतम स्तर पर जोरदार तरीके से उठाने और कंडुला की हत्या तथा वॉशिंगटन राज्य में सिएटल में पुलिस अधिकारी के अत्यधिक असंवेदनशील रवैए पर त्वरित कार्रवाई की मांग के बाद अमेरिकी सरकार हरकत में आई।
 
कांडुला की जनवरी में उस समय मौत हो गई थी जब अधिकारी केविन डेव द्वारा चलाए जा रहे एक पुलिस वाहन ने उसे टक्कर मार दी थी। ‘सिएटल टाइम्स’ अखबार ने सोमवार को बताया कि वह ओवरडोज की रिपोर्ट मिलने के बाद घटनास्थल तक पहुंचने के लिए रास्ते में 119 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से गाड़ी चला रहे थे।
 
सिएटल पुलिस विभाग द्वारा सोमवार को जारी किए गए बॉडीकैम फुटेज में अधिकारी डैनियल ऑडरर ने इस घातक दुर्घटना को हंसकर टाल दिया और इस बात को खारिज किया कि डेव कसूरवार है या मामले में आपराधिक जांच आवश्यक है। अमेरिकी सांसदों और भारतीय-अमेरिकियों ने कंडुला की मौत पर आक्रोश व्यक्त किया है।
 
बाइडन प्रशासन ने भारत सरकार को घटना की त्वरित जांच करने और इसके लिए दोषी पुलिस अधिकारियों को न्याय के कठघरे में लाने का आश्वासन दिया है। माना जाता है कि वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने राजदूत और भारत सरकार को आश्वासन दिया है कि उन्होंने पूरी घटना को बहुत गंभीरता से लिया है।
 
अधिकारियों ने कहा कि वे घटना को लेकर ‘स्तब्ध’ और ‘सहमे’ हुए हैं। सैन फ्रांसिस्को में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने बुधवार को कंडुला की मौत के मामले में जांच के तरीकों को ‘बेहद परेशान करने वाला’ बताया।
 
दूतावास ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, हमने इस दुखद मामले में शामिल लोगों के खिलाफ गहन जांच और कार्रवाई के लिए सिएटल और वॉशिंगटन राज्य के स्थानीय अधिकारियों के साथ-साथ व़ॉशिंगटन डीसी के वरिष्ठ अधिकारियों के समक्ष इस मामले को दृढ़ता से उठाया है। पोस्ट में कहा गया है, वाणिज्य दूतावास और दूतावास सभी संबंधित अधिकारियों के साथ इस मामले पर बारीकी से नजर रखना जारी रखेंगे।
 
भारतीय अमेरिकी सांसद रो खन्ना ने कहा, जाह्नवी कंडुला भारत से स्नातक कार्य के लिए यहां आई थीं। पुलिस की एक तेज रफ्तार कार ने सड़क पार कर रही कंडुला की हत्या कर दी और अधिकारी ऑडरर का कहना है कि उसके जीवन का ‘सीमित मूल्य’ था। इस पर मुझे अपने पिता का ख्याल आया जो 20 साल की उम्र में यहां आए थे। मिस्टर ऑडरर, प्रत्‍येक भारतीय अप्रवासी का जीवन अनंत मूल्यवान है।
 
खन्ना ने कहा, जो कोई भी सोचता है कि मानव जीवन का ‘सीमित मूल्य’ है तो उसे कानून प्रवर्तन में सेवा नहीं देनी चाहिए। भारतीय-अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल ने कहा, यह भयावह है। मुझे आशा है कि मैं जाह्नवी कंडुला के परिवार के लिए न्याय और इसमें शामिल लोगों को जवाबदेह ठहराए जाते देखूंगी।
 
कंडूला परिवार को लिखे एक पत्र में सिएटल शहर के मेयर ब्रूस हैरेल ने कहा कि एक व्यक्ति द्वारा की गई टिप्पणियां शहर या समुदायों की भावनाओं को प्रतिबिंबित नहीं करती हैं। सैन फ्रांसिस्को में भारतीय महावाणिज्य दूत अशोक मंडुला इस मुद्दे पर सिएटल शहर और वॉशिंगटन राज्य के अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं।
Edited By : Chetan Gour (भाषा)
ये भी पढ़ें
अनंतनाग मुठभेड़ में एक और जवान शहीद, ड्रोन से आतंकियों पर नजर